आंदोलन में नहीं है असली किसान, वहां केवल शराब पीने वाले और नोट लेने वाले हैं: भानु प्रताप सिंह

आंदोलन में नहीं है असली किसान, वहां केवल शराब पीने वाले और नोट लेने वाले हैं: भानु प्रताप सिंह

चुनावी राज्यों में किसान नेता लगातार रैली कर रहे हैं। किसान आंदोलन के बीच भारतीय किसान यूनियन के राकेश टिकैत बड़ा नाम बन कर उभरे हैं। इन सब के बीच भारतीय किसान यूनियन भानु के राष्ट्रीय अध्यक्ष भानु प्रताप सिंह ने राकेश टिकैत पर जबरदस्त हमला किया है।

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले 10 महीनों से आंदोलन जारी है। किसान नेताओं की मांग इन तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की है जबकि सरकार पूरी तरह से इसे मना कर रही है। किसान नेता और सरकार के बीच 11 दौर की बातचीत हो चुकी है लेकिन कोई नतीजा नहीं निकल सका है। सरकार और किसानों के बीच तकरार की स्थिति लगातार जारी है। इन सबके बीच किसान नेताओं ने अब सरकार को घेरने की तैयारी भी कर ली है। चुनावी राज्यों में किसान नेता लगातार रैली कर रहे हैं। किसान आंदोलन के बीच भारतीय किसान यूनियन के राकेश टिकैत बड़ा नाम बन कर उभरे हैं। इन सब के बीच भारतीय किसान यूनियन भानु के राष्ट्रीय अध्यक्ष भानु प्रताप सिंह ने राकेश टिकैत पर जबरदस्त हमला किया है।

भानु प्रताप सिंह ने कहा कि राकेश टिकैत पर हमला करते हुए कहा कि वह (राकेश टिकैत) बिना ठगे कोई काम नहीं करते। उन्होंने दावा किया कि किसान आंदोलन कांग्रेस की फंडिंग से चल रहा है। वहां काजू, बादाम, पिस्ता, किशमिश और शराब की बोतल मिल रही है। असली किसान आंदोलन में नहीं है, वहां केवल शराब पीने वाले और नोट लेने वाले हैं। इससे पहले भी भानु प्रताप सिंह कई बार राकेश टिकैत पर जबरदस्त हमला कर चुके हैं। इससे पहले उन्होंने कहा कि राकेश टिकैत दिल्ली बॉर्डर पर आतंकवाद फैला रहे हैं। उनके अंदर ईमानदारी नहीं रही, वे 100% बेईमान है। नए कृषि क़ानून बने रहने दो इसमें कोई दिक़्क़त नहीं है। हमारी मांग है कि किसान आयोग का गठन हो। 

इसे भी पढ़ें: यूपी में क्यों सारे भाईजान हुए परेशान? पहले अब्बाजान, फिर चाचाजान और अब आ गईं अम्मीजान

दूसरी ओर राकेश टिकैत ने भी सियासी बयान देते हुए ओवैसी को निशाने पर लिया है। उन्होंने कहा है कि एआईएमआईएम नेता असदुद्दीन ओवैसी बीजेपी के चाचाजान हैं। बागपत में रैली के दौरान टिकैत ने ओवैसी और बीजेपी के बीच सांठगांठ का आरोप लगाते हुए ओवैसी को बीजेपी का चाचाजान बताया। टिकैत ने कहा कि ओवैसी बीजेपी को गाली देते हैं, फिर भी उनके खिलाफ कोई केस दर्ज नहीं होता है, क्योंकि ये दोनों एक ही टीम हैं। राकेश टिकैत ने एआईएमआईएम चीफ पर निशाना साधते हुए कहा कि ये बहरूपिया है, कभी तिरछी टोपी पहनेंगे कभी सीधी टोपी पहनेंगे। टिकैत ने कहा कि बीजेपी का चाचाजान उत्तर प्रदेश में आ चुका है और उसका नाम ओवैसी है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...