पटना में दबंग अवतार में दिखे राजद सुप्रीमो लालू यादव, सालों बाद चलाई अपनी गाड़ी

पटना में दबंग अवतार में दिखे राजद सुप्रीमो लालू यादव, सालों बाद चलाई अपनी गाड़ी

भले ही लालू यादव और राजनीति से दूर चल रहे हैं। लेकिन ट्वीट के जरिए वह लगातार अपनी सक्रियता को दिखाने की कोशिश करते हैं। केंद्र के मोदी सरकार और बिहार के नीतीश सरकार पर लगातार आरोप लगाते हैं।

राष्ट्रीय जनता दल प्रमुख और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव इन दिनों अपने गृह राज्य में हैं। हालांकि, वह पूरी तरह से स्वस्थ नहीं हैं। बावजूद इसके उनका उत्साह लोगों को दिखाई दे रहा है। आज लालू यादव ने कई सालों बाद अपनी गाड़ी चलाई। लालू यादव ने इसका वीडियो अपने ट्विटर अकाउंट पर भी साझा किया है। अपने ट्वीट के साथ लालू यादव ने लिखा कि आज वर्षों बाद अपनी प्रथम गाड़ी को चलाया। इस संसार में जन्मे सभी लोग किसी ना किसी रूप में ड्राइवर ही तो है। आपके जीवन में प्रेम, सद्भाव, सौहार्द, समता, समृद्धि, शांति, सब्र, न्याय और खुशहाली रूपी गाड़ी सबको साथ लेकर सदा मजे से चलती रहे।

दरअसल, लालू यादव ने अपने ट्वीट के जरिए एक बड़ा संदेश देने की कोशिश की है। उन्होंने इस बात को बताने की कोशिश की है कि संसार में जन्मे सभी लोग किसी न किसी रूप में ड्राइवर ही होते हैं। आपको बता दें कि लालू यादव अस्वस्थ होने की वजह से सियासत से लगातार दूर चल रहे हैं। चारा घोटाला मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद लालू यादव इसी साल मई में जेल से रिहा हुए हैं। इससे पहले बिहार में 2 सीटों पर हुए उपचुनाव के दौरान लालू यादव प्रचार करने पहुंचे थे। बावजूद इसके राजद को दोनों ही सीटों पर हार का सामना करना पड़ा था। 

इसे भी पढ़ें: चारा घोटाले से जुड़े मामले में लालू सीबीआई अदालत में पेश हुए

भले ही लालू यादव और राजनीति से दूर चल रहे हैं। लेकिन ट्वीट के जरिए वह लगातार अपनी सक्रियता को दिखाने की कोशिश करते हैं। केंद्र के मोदी सरकार और बिहार के नीतीश सरकार पर लगातार आरोप लगाते हैं। इसके साथ ही वह विपक्ष के नेताओं से लगातार मिलते जुलते रहते हैं और इसकी फोटो अपने ट्विटर पर साझा भी करते हैं। हाल में ही लालू यादव ने बिहार में शराबबंदी को लेकर नीतीश कुमार को आड़े हाथ लिया था। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।