मोदी सरकार पर सचिन पायलट का हमला, कहा- देश के माहौल से जनता नाखुश

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 25, 2019   17:26
मोदी सरकार पर सचिन पायलट का हमला, कहा- देश के माहौल से जनता नाखुश

एक कार्यक्रम के सिलसिले में यहां आए पायलट ने महाराष्ट्र के घटनाक्रम का जिक्र करते हुए कहा कि हमें लगता है कि देश में जिस तरह का वातावरण बना हुआ है उससे जनता भी नाखुश है।

सीकर (राजस्थान)। महाराष्ट्र में राजनीतिक घटनाक्रम को लेकर भाजपा पर निशाना साधते हुए राजस्थान के उपमुख्यमंत्री और कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट ने सोमवार को कहा कि देश में जिस तरह का वातावरण बना है उससे जनता नाखुश है।

एक कार्यक्रम के सिलसिले में यहां आए पायलट ने महाराष्ट्र के घटनाक्रम का जिक्र करते हुए कहा, ‘‘हमें लगता है कि देश में जिस तरह का वातावरण बना हुआ है उससे जनता भी नाखुश है। जो परिणाम आए हैं चाहे वह महाराष्ट्र के हों, हरियाणा के हों ... राजस्थान विधानसभा के उपचुनाव हों या हाल ही में राज्य में नगर निकाय के जो चुनाव हुए हैं उनमें भारी समर्थन व बहुमत कांग्रेस पार्टी को मिल रहा है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘जनता समझ चुकी है कि दिल्ली जिस तरह की राजनीति जनता पर थोप रही है, वह लोगों के गले नहीं उतर रही है। विकास हो, आर्थिक नीतियां अच्छी बनें, नौजवानों को रोजगार मिले इस पर केंद्र सरकार का ध्यान अभी है नहीं और वह जज्बाती मुद्दों के माध्यम से राजनीति करना चाहती है।’’

इसे भी पढ़ें: झारखंड में भाजपा सरकार ने पांच सूत्रों पर काम किया: नरेन्द्र मोदी

पायलट ने कहा, ‘‘हम लोग चाहते हैं कि किसान, नौजवान, छोटे कारोबार व अर्थव्यवस्था आगे बढ़े दुर्भाग्यवश केंद्र सरकार ऐसा कर नहीं रही है।’’ पायलट ने यह भी कहा कि मामले को सुलझाने के लिए महाराष्ट्र विधानसभा में तुरंत मत विभाजन होना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि उसका निराकरण तभी होगा जब शक्ति प्रदर्शन व मत विभाजन तुरंत प्रभाव से सदन में हो। क्या कारण है कि बार बार विलंब हो रहा है यह समझ से परे है।’’





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।