विधायक नैहरिया व ओशिन शर्मा की अधूरी प्रेम कहानी का दुखद अंत

विधायक नैहरिया व ओशिन शर्मा की अधूरी प्रेम कहानी का दुखद अंत

खुद विधायक चाह रहे हैं कि उनका रिशता किसी तरह दोबारा पटरी पर लौट आये, लेकिन उनकी पत्नी अब पीछे मुडना नहीं चाह रही। नैहरिया की पत्नी ओशिन शर्मा के आरोपों से विधायक विवादों में घिर गये है। जिससे उनका राजनैतिक भविष्य भी दांव पर लगा है। विधायक नैहरिया और उनकी पत्नी की शादी बीते साल हुई थी।

धर्मशाला। धर्मशाला के विधायक विशाल नैहरिया व उनकी पत्नी जो कि हिमाचल प्रदेश प्रशासनिक सेवा की अधिकारी हैं, के बीच चल रहे विवाद ने अब नया मोड ले लिया है। दोनों के बीच परिवारिक विवाद बीते साल से चल रहा है। जो धर्मशाला की अदालत में है। हालांकि इस बीच,नैहरिया दावा करते रहे कि सबकुछ ठीक हो जायेगा। लेकिन अब उनकी पत्नी ने एक बार फिर सामने आकर स्पष्ट कर दिया है कि अब दोनों में तनातनी बरकरार है। 

 

दरअसल, खुद विधायक चाह रहे हैं कि उनका रिशता किसी तरह दोबारा पटरी पर लौट आये, लेकिन उनकी पत्नी अब पीछे मुडना नहीं चाह रही। नैहरिया की पत्नी ओशिन शर्मा के आरोपों से विधायक विवादों में घिर गये है। जिससे उनका राजनैतिक भविष्य भी दांव पर लगा है।  विधायक  नैहरिया और उनकी पत्नी की शादी बीते साल हुई थी। शादी से पहले पत्नी जिला कांगडा के नगरोटा सूरियां ब्लाक में बीडीओ के पद पर रह चुकी हैं। वर्तमान में वह बिलासपुर में बतौर प्रोबेशनर एचएएस पद पर सेवाएं दे रही है। 

इसे भी पढ़ें: हिमाचल कांग्रेस में बदलाव के लिये सुक्खू समर्थक विधायक सक्रिय

दोनों कॉलेज के दिनों में एक-दूसरे को चाहते थे। खास बात यह थी कि दोनों पढ़ाई में अव्वल होने के साथ कॉलेज की राजनीति में भी काफी सक्रिय थे। विधायक नैहरिया धर्मशाला के रहने वाले हैं जबकि ओशीन शर्मा शाहपुर रैत की रहने वाली हैं। दोनों राजनीति के अलावा सामाजिक कार्यों में भी काफी रुचि लेते थे। दोनों कोरोना बंदिशों के बीच बीते साल 26 अप्रैल को परिणय सूत्र में बंधे थे।  लेकिन दोनों का परिवारिक विवाद दो माह बाद ही सामने आ गया।

इसे भी पढ़ें: हिमाचल प्रदेश---फोटोयुक्त मतदाता सूची-2022 अंतिम रूप से प्रकाशित

विधायक नैहरिया व महिला अधिकारी की शादी तो हुई लेकिन उनका पारिवारिक रिश्ता ठीक नही रहा विधायक की पत्नी बताती है कि उनका ओर विधायक के कालेज बीच मे कालेज के  समय से प्रेम सम्बंध रहे हैं लेकिन उस दौरान भी नैहरिया मेरे साथ मारपीट करते थे और इसी वजह से मैंने उनके साथ रिश्ता तोड़ दिया था लेकिन जब वे विधायक बने तो 2019 में वे फिर मेरे पास आए और फिर मुझे अपनी बातों के विश्वास में लिया और फिर से हमारा रिश्ता आगे बढ़ा । महिला अधिकारी ने बताया कि  चंडीगढ़ में हम एक होटल में रुके थे शादी से पहले उस दौरान में विधायक ने मेरे साथ बहुत मारपीट की उसके बाद मुझे इमोशनल ब्लैकमेल किया और मैं फिर मांन गई उसके बाद हमने कोर्ट मैरिज भी की विधायक ने मुझे अपना प्यार साबित करने के लिए कोर्ट मैरिज की शादी के बाद से ही मेरे साथ मार पीट की  और मुझे मैंटली हरास किया जा रहा है मेरे ओर मेरे परिवार को जान का खतरा भी है क्योंकि विधायक हमेशा मुझे अपने आप को कुछ करने की धमकियां देते रहते है और कई बार अपने आप को बोतल से या अन्य हथियारों से मार चुके है । 

धर्मशाला के विधायक विशाल नैहरिया बताते हैं कि उनकी ओशिन शर्मा के साथ शादी 26 अप्रैल 2021 को शादी हुई व दो महीने के बाद मेरा व मेरी पत्नी के बीच विवाद सामने आया । यह मामला लोगों के सामने आया। उसको लेकर बहुत सारे लोगों ने सोशल मिडिया में तरह तरह की बातें की। व और भद्दे कमेंट भी किये।  उनको पढकर आहत हुआ। मैं स्पष्ट करना चाहूंगा कि  न तो मैं अपनी धर्मपत्नी को लेकर कुछ सुन सकता हूं, न ही कुछ बोल सकता हूं।  

इसे भी पढ़ें: राज्यपाल शिमला में राज्य स्तरीय गणतन्त्र दिवस समारोह की अध्यक्षता करेंगे

हम दोनों आपस में बहुत अच्छे से रह रहे थे। और कुछ माममले में हमारे आस में मतभेद हुये। उनको लेकर मुझसे व्यक्तिगत तौर पर गल्ती हुई। मैं खुद भी मनता हूं कि वह गल्ती हुई। और गल्ती से मैंने अपनी धर्मपत्नी पर हाथ उठाया।  जिसके लिये मैं व्यक्तिगत तौर पर उनसे व उनकी धर्मपत्नी से क्षमा मांगता हूं। और भगवान से भी प्रार्थना करता हूं कि मेरा गृहस्थ जीवन दोबारा से चले। जिसके लिये मैं प्रयत्नशील हूं। उन्होंने कहा कि हमारे मामले में मिडिया में जिस तरीके से सोशल मिडिया में कमेंट दिये। वह गैर जरूरी थे।  मेरा लोगों से अनुरोध है कि यह मेरा व मेरी धर्मपत्नी का व्यक्तिगत मामला है। लिहाजा लोग हमारे मामले से दूर रहें। अपनी तरपफ कोई भी निगेटिव बात न करे। उन्होंने कहा कि अभी हाल ही में मैंने देखा कि एक विडियो सोशल मिडिया में आया, जिसमें मेरी धर्मपत्नी गाना गा रही थी। लेकिन उस पर जो कमेंट लोगों ने किये वह बेहद बुरे थे। जिन्हें देखकर मैं बुरी तरह आहत हुआ। उनमें उन्हें भी दोषी ठहराया गया था। लेकिन मैं मानता हूं कि उसमें उनका कोई दोष नहीं है। दोष मेरा ही है।  मैं स्वय अपने आपको दोषी मानता हूं। मेरा आप सबसे अनुरोध है कि आप हमारे परिवारिक मामले से दूर रहें । ऐसा कोई भी कमेंट इस पर न करें जिससे कि मैं व मेरी धर्मपत्नी आहत हो।  

इसे भी पढ़ें: प्रदेश में कोविड-19 मामलों में तेज वृद्धि को लेकर राज्य चिन्तित है--मुख्यमंत्री

उधर ,विधायक की पत्नी ओशिन शर्मा ने प्रधानमंत्री नरेन्दर मोदी व मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर से मदद की गुहार लगाई है। व आरोप लगाया कि उनके पति उन्हें राजनैतिक प्रभाव के चलते परेशान कर रहे हैं। व उनका पीछा भी कर रहे हैं।

ओशिन शर्मा जो कि हिमाचल प्रदेश प्रशासनिक सेवा की अधिकारी हैं इन दिनों अपने प्रोबेशन पिरियड के दौरान बिलासपुर में तैनात हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि उनके पति जो कि भाजपा के धर्मशाला से विधायक हैं। पिछले लंबे समय से उन्हें लगातार प्रताड़ित व मानसिक रूप से परेशान कर रहे हैं, हालांकि मामला अदालत में विचाराधीन है। और वह तालाक चाहती हैं। लेकिन ऐसा होने नहीं दिया जा रहा।

उन्होंने कहा कि केन्द्र व प्रदेश की भाजपा सरकार एक तरफ बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ का संदेश दे रही है, तो दूसरी ओर मुझे सत्ता के बल पर मेरा विधायक पति परेशान कर रहा है। उन्होंने कहा कि जब बेटियां ही सुरक्षित नहीं होंगी, तो फिर इस मुहिम का क्या औचित्य? उन्होंने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राज्य के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से न्याय की गुहार लगाई । व कहा कि यह लडाई उनकी अकेली की नहीं है। 

ओशिन शर्मा ने अपने साथ हो रहे अन्याय और मानसिक प्रताडऩा के बारे में बताते हुये कहा कि उनका यह विषय हालांकि हिमाचल की जनता से छिपा नहीं है और उस समय लोगों ने भी उन्हें काफी सपोर्ट किया। सोशल मीडिया के माध्यम से उन्हें प्रताड़ित करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी गई। एक महिला के सम्मान व स्वाभिमान को ठेस पहुंचाई गई। ओशीन शर्मा के पिता भुवनेश शर्मा नायब तहसीलदार और माता सुंदरी शर्मा डीसी कांगड़ा के धर्मशाला स्थित कार्यालय में कार्यरत हैं। ओशीन का परिवार मूल रूप से चंबा जिले से है, लेकिन धर्मशाला में सैटल्ड है ।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...