महामारी और बेरोजगारी को लेकर समाजवादी पार्टी ने किया जन आक्रोश आंदोलन

Samajwadi Party
आरती पांडेय । Aug 26, 2021 4:29PM
भारत माता मंदिर से हजारों की संख्या में समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता ने बीजेपी सरकार के विरुद्ध जमकर नारेबाजी की। आज से सभी समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता रैली के माध्यम से बूथ स्तर तक पहुंच कर जनता में बीजेपी सरकार के खिलाफ आक्रोश जगा रहे और 2022 में चुनाव में सपा सरकार को फिर से लाने का आवाहन कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की संसदीय क्षेत्र वाराणसी में आज समाजवादी पार्टी के कुछ नेताओं ने जनाक्रोश आंदोलन निकाली। इस आंदोलन में नेताओं ने सरकार के खिलाफ मोर्चा किया। इनके आंदोलन निकालने की सबसे बड़ी वजह बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी और वैश्विक महामारी कोरोना से हुई लाखों लोगों की मौत को लेकर कार्यकर्ताओं ने मोर्चा निकाला। 

इसे भी पढ़ें: तालिबानियों ने किया क्रूरता की सारी हदें पार, मुस्लिम महिला फाउंडेशन ने फूंका पुतला

भारत माता मंदिर से हजारों की संख्या में समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता ने बीजेपी सरकार के विरुद्ध जमकर नारेबाजी की। आज से सभी समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता रैली के माध्यम से बूथ स्तर तक पहुंच कर जनता में बीजेपी सरकार के खिलाफ आक्रोश जगा रहे और 2022 में चुनाव में सपा सरकार को फिर से लाने का आवाहन कर रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: बनारस रेलवे स्‍टेशन मालगाड़ी के बेपटरी होने से 5 डिब्बे दुर्घटनाग्रस्त हो गये

समाजवादी पार्टी ने जन आक्रोश आंदोलन में लोगों के बीच बढ़ती महंगाई बेरोजगारी जैसे मुद्दे से लोगों के बीच आक्रोश बढ़ा दिया है। इसके लिए पार्टी बूथ स्तर पर जाकर जनता के घर घर पहुंचेगी और लोगों को बीजेपी के खिलाफ आक्रोशित कर बीजेपी सरकार को हटाने का और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को 2022 के चुनाव में जीत दिलाने और उत्तर प्रदेश का सीएम बनाने का कार्य करेगी  समाजवादी पार्टी के नेताओं का कहना है कि लोगों के बीच बीजेपी के खिलाफ आक्रोश बहुत है लेकिन कोई खुलकर सामने नहीं आ पा रहा है। इसी कारण समाजवादी नेता जनाक्रोश आंदोलन को लेकर सड़क पर उतरे हैं और लोगों से भी आवाहन कर रहे हैं कि  जनता भी इस आंदोलन में बीजेपी के खिलाफ हमारा साथ दें।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़