संजय राउत की वाणी और लेखनी मारती है डंक, ईडी कार्रवाई को लेकर अरविंद सावंत ने भाजपा पर साधा निशाना

Arvind Sawant
ANI Image
शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने कहा कि संजय राउत की वाणी और लेखनी दोनों डंक मारती हैं इसलिए उनसे वे (भाजपा) परेशान हैं... जो विपक्ष में बात करेगा उसका मुंह बंद करो, धुलाई मशीन खाली है। जितने लोग आपके पास आए हैं उन लोगों पर आपने (भाजपा ने) ही ईडी के इल्जाम लगाए थे, उसका क्या हुआ ?

मुंबई। शिवसेना सांसद और नेता संजय राउत के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की कार्रवाई को लेकर पार्टी सांसद अरविंद सावंत ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधा। दरअसल, ईडी ने संजय राउत के आवास पर छापेमारी की। कहा जा रहा है कि ईडी के समन के बावजूद संजय राउत पेश नहीं हुए थे जिसकी वजह से जांच एजेंसी शिवसेना नेता के घर पहुंची।

इसे भी पढ़ें: अगर कुछ गलत नहीं किया तो डर क्यों रहे हैं ? संजय राउत पर ED की कार्रवाई को लेकर बोले एकनाथ शिंदे 

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने कहा कि संजय राउत की वाणी और लेखनी दोनों डंक मारती हैं इसलिए उनसे वे (भाजपा) परेशान हैं... जो विपक्ष में बात करेगा उसका मुंह बंद करो, धुलाई मशीन खाली है। जितने लोग आपके पास आए हैं उन लोगों पर आपने (भाजपा ने) ही ईडी के इल्जाम लगाए थे, उसका क्या हुआ ?

उन्होंने कहा कि सिर्फ महाराष्ट्र में ही भ्रष्टाचारी लोग हैं, और राज्यों में नहीं है ? खुद राज्यपाल जी कहते हैं कि अगर मुंबई से गुजराती और मारवाड़ी निकल जाएंगे तो इसकी आर्थिक राजधानी का स्तर चला जाएगा। इसका मतलब पैसे वाले कौन हैं और छापेमारी किस पर हो रही है ? यह भाजपा करा रही है।

एनसीपी नेता अजित पवार ने कहा कि कई लोगों को ईडी का नोटिस मिला है। जांच एजेंसियां चाहे वह ईडी हो, सीबीआई हो, आईटी हो या राज्य की एजेंसियां, ये सभी शिकायत मिलने पर जांच करती हैं। संजय राउत के मामले में यह बार-बार हो रहा है इसलिए इसके पीछे का सही कारण वही बता सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें: झूठी कार्रवाई, झूठे सबूत... मैं मर भी जाऊं तो आत्मसमर्पण नहीं करूंगा, घर पर ईडी की छापेमारी को लेकर बोले संजय राउत 

शिवसेना कार्यकर्ताओं का धरना

शिवसेना सांसद के आवास पर ईडी की छापेमारी को लेकर शिवसेना कार्यकर्ताओं ने धरना दिया। आपको बता दें कि शिवसेना कार्यकर्ता संजय राउत के आवास के बाहर एकत्रित हो गए और वहीं पर बैठकर ईडी की कार्रवाई का विरोध किया। इसी बीच संजय राउत ने कहा कि मैं मर जाऊंगा मगर आत्मसमर्पण नहीं करूंगा। उन्होंने कहा कि झूठी कार्रवाई, झूठे सबूत...मैं शिवसेना नहीं छोड़ूंगा..मैं मर भी जाऊंगा, मैं आत्मसमर्पण नहीं करूंगा...मेरा किसी घोटाले से कोई लेना-देना नहीं है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़