• गांव के सरपंच का अपहरण, वारदात को फिल्मी स्टाइल में अंजाम देने का वीडियो वायरल

सरपंच के साथ अपहरण की इस वारदात को शादी को लेकर हुए विवाद के बाद अंजाम दिया गया। नीमच के एडिशनल सीपी सुदंर सिंह कनेश ने बताया कि गांव के सरपंच बद्री लाल के पोते की शादी उनके समाज की परंपरा के मुताबिक बचपन में बालागंज में रहने वाले एक परिवार की लड़की से तय हुई थी।

मध्य प्रदेश के नीमच के डायली गांव के एक संरपच का अपहरण कर लिया गया। सरपंच के साथ अपहरण की इस वारदात को पूरे फिल्मी स्टाइल में अंजाम दिया गया। इस वारदात का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

सरपंच के साथ अपहरण की इस वारदात को शादी को लेकर हुए विवाद के बाद अंजाम दिया गया। नीमच के एडिशनल सीपी सुदंर सिंह कनेश ने बताया कि गांव के सरपंच बद्री लाल के पोते की शादी उनके समाज की परंपरा के मुताबिक बचपन में बालागंज में रहने वाले एक परिवार की लड़की से तय हुई थी।

समझौते के दौरान बढ़ा विवाद

 

शादी के बाद वधू पक्ष ने लड़की ससुराल नहीं भेजा। इसके बाद दोनों पक्षों को मनासा क्षेत्र के आंतरी माता मंदिर पर समझौते के लिए बुलाया गया। समझौते की जगह यहां दोनों पक्षों के बीच हंगामा और बढ़ गया और बात हाथापाई तक पहुंच गई। साथ ही अगले ही दिन वधू पक्ष के लोगों ने डायली के सरपंच बद्री लाल को सड़क पर रोक लिया। 

सरपंच को रोकने के बाद पहले पिटाई की गई और फिर उसका अपहरण कर लिया। इसके बाद डायली गांव के लोगों ने आरोपी परिवार के घर पहुंचकर तोड़फोड़ की। नीमच के एडिशनल एसपी सुंदर सिंह कनेश के मुताबिक बालागंज गांव यानि वधू पक्ष के लोगों के खिलाफ नामजद एफआईआर कर ली गई है। 

पुलिस का सरपंच से नहीं हुआ है संपर्क

 

वहीं पुलिस के साथ पूछताछ में आरोपियों का कहना है कि उन्होंने सरपंच के साथ मारपीट कर उसे छोड़ दिया था लेकिन पुलिस का सरपंच से अबतक कोई संपर्क नहीं हो पाया है। पुलिस मामले में आगे की छानबीन में जुटी है।