उत्‍तर प्रदेश में कोरोना से सात और मौतें, मरने वालों का आंकड़ा 8,000 के पार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 25, 2021   18:25
उत्‍तर प्रदेश में कोरोना से सात और मौतें, मरने वालों का आंकड़ा 8,000 के पार

उत्‍तर प्रदेश में कोरोना वायरस से सात और लोगों मौत हो गई है। स्‍वास्‍थ्‍य बुलेटिन के अनुसार पिछले 24 घंटे में लखनऊ में सर्वाधिक 45, कानपुर नगर में 22, प्रयागराज, मेरठ और अलीगढ़ में दस-दस नये संक्रमित पाये गये हैं। इसी अवधि में लखनऊ में सर्वाधिक तीन संक्रमितों की मौत हुई है।

लखनऊ। उत्‍तर प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण से पिछले 24 घंटे में सात मरीज़ों की मौत हो गई और 220 नये संक्रमित पाये गये हैं। संक्रमण से राज्‍य में अब तक मरने वालों का आंकड़ा 8,624 हो गया है जबकि कुल 5,98, 907 संक्रमित पाये गये हैं। सोमवार को अपर मुख्‍य सचिव स्‍वास्‍थ्‍य अमित मोहन प्रसाद ने पत्रकारों को बताया कि पिछले 24 घंटे में 220 नये संक्रमित पाये गये जबकि इसी अवधि में 456 संक्रमितों को उपचार के बाद उनके घर भेजा गया है। उन्‍होंने बताया कि कोरोना संक्रमण से अब तक कुल 5,83,470 मरीजस्‍वस्‍थ होकर अस्‍पताल से छुट्टी पा चुके हैं। प्रसाद के अनुसार राज्‍य में6,813 लोगों का कोविड-19 का इलाज चल रहा है। इनमें 2,021 पृथक-वास में जबकि 583 संक्रमित निजी चिकित्‍सालयों में अपना उपचार करा रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: किसान आंदोलन पर राहुल गांधी ने कहा- किसानों के खिलाफ हैं कृषि कानून, लड़ाई जारी रहेगी

बाकी का सरकारी अस्‍पतालों में उपचार चल रहा है। राज्‍य में रविवार को 1.06 लाख से अधिक कोरोना के नमूनों का परीक्षण किया गया जबकि अब तक 2.72 करोड़ से ज्‍यादा नमूनों की जांच की जा चुकी है। अपर मुख्‍य सचिव के अनुसार प्रदेश में कोविड-19 के मरीज़ों के स्‍वस्‍थ होने का प्रतिशत 97. 42 हो गया है। स्‍वास्‍थ्‍य बुलेटिन के अनुसार पिछले 24 घंटे में लखनऊ में सर्वाधिक 45, कानपुर नगर में 22, प्रयागराज, मेरठ और अलीगढ़ में दस-दस नये संक्रमित पाये गये हैं। इसी अवधि में लखनऊ में सर्वाधिक तीन संक्रमितों की मौत हुई है। राजधानी लखनऊ में अब तक कोरोना संक्रमण से 1,168 मरीज अपनी जान गंवा चुके हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।