पार्थ चटर्जी की गिरफ्तारी बोले शत्रुघ्न सिन्हा, बिना किसी सबूत के किया जा रहा परेशान

Shatrughan Sinha
ANI
अंकित सिंह । Jul 24, 2022 5:34PM
तृणमूल कांग्रेस की ओर से पश्चिम बंगाल के मंत्री फिरहाद हाकिम ने कहा कि हम स्थिति पर नजर रखे हुए हैं और हमें न्यायपालिका पर भरोसा है। TMC पार्टी या सरकार किसी भी विसंगति या कदाचार को बर्दाश्त नहीं करेगी। न्यायपालिका के फैसले के बाद TMC कार्रवाई करेगी।

कोलकाता की एक अदालत ने शिक्षक भर्ती घोटाले के सिलसिले में पश्चिम बंगाल के मंत्री पार्थ चटर्जी को दो दिन के लिए प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की हिरासत में भेज दिया है। इस मामले को लेकर आसनसोल से तृणमूल कांग्रेस सांसद शत्रुघ्न सिन्हा का बयान सामने आया है। शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि मैं इस पर कुछ नहीं कहूंगा अभी जांच चल रही है लेकिन जो प्राथमिक रूप से दिख रहा है उसमें ये साफ है कि बिना किसी पुष्टि और बिना किसी सबूत के आप किसी को परेशान कर रहे हैं। उन्होंने दावा किया कि इस पार्टी (TMC) ही नहीं बल्कि बाकी पार्टियों के साथ भी ऐसा ही हो रहा है। इसके साथ ही दिग्गज अभिनेता ने कहा कि देश में मुख्य मुद्दा बेरोजगारी और महंगाई कै है। अग्निपथ का ड्रामा सामने आया... 4 साल काम करने के बाद बेरोजगार कर दिया जाएगा।

इसे भी पढ़ें: पार्थ चटर्जी की गिरफ्तारी पर TMC का बयान, ED को चला रही भाजपा, हमें न्यायपालिका पर भरोसा है

इससे पहले इस मामले पर तृणमूल कांग्रेस की ओर से पश्चिम बंगाल के मंत्री फिरहाद हाकिम ने कहा कि हम स्थिति पर नजर रखे हुए हैं और हमें न्यायपालिका पर भरोसा है। TMC पार्टी या सरकार किसी भी विसंगति या कदाचार को बर्दाश्त नहीं करेगी। न्यायपालिका के फैसले के बाद TMC कार्रवाई करेगी। इसके साथ ही उन्होंने भाजपा पर भी निशाना साधा। फिरहाद हाकिम ने कहा कि आज के हालात में ऐसा लग रहा है कि ईडी को भाजपा चला रही है। तभी तो सुवेंदु अधिकारी कह रहे हैं कि ईडी के कोई बयान देने से पहले ही भविष्य में बहुत कुछ मिलने वाला है। इसका मतलब है कि ईडी राजनीतिक रूप से भाजपा से प्रभावित है। 

इसे भी पढ़ें: विपक्षी एकजुटता में फूट के बीच डेरेक ओ ब्रायन बोले- टीएमसी को कांग्रेस बराबर का साझेदार माने

पार्थ चटर्जी को उनके आवास पर करीब 26 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया गया। कलकत्ता उच्च न्यायालय के निर्देश के तहत केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) सरकार द्वारा प्रायोजित और सहायता प्राप्त स्कूलों में समूह-सी और डी कर्मचारियों के साथ-साथ शिक्षकों की भर्ती में कथित अनियमितताओं की जांच कर रही है। ईडी घोटाले में राशि कहां से आयी और कहां गई इसकी पड़ताल कर रही है। ईडी ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल में शिक्षक भर्ती घोटाले की जांच के सिलसिले में दो मंत्रियों सहित करीब 12 व्यक्तियों के घरों पर एकसाथ छापेमारी की थी और करीब 20 करोड़ रुपये नकद जब्त किये थे।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़