शिवराज सिंह चौहान बोले कांग्रेस प्रदेश के लिए तबाही का प्रतीक बन गई

Shivraj Singh Chauhan
दिनेश शुक्ल । Oct 27, 2020 10:29PM
उन्होंने कहा कि इन्होंने किसानों की कर्जमाफी तो नहीं की, बल्कि किसानों को और ज्यादा कर्जदार बना दिया। किसान दो लाख रूपए के चक्कर में आ गए और डिफाल्टर हो गए। अब वे सहकारी समितियों से खाद, बीज नहीं उठा पा रहे हैं। कमलनाथ ने किसानों के साथ धोखा, छलावा और फरेब किया है

भोपाल। प्रदेश में कांग्रेस की कमलनाथ सरकार ने 15 माह में भ्रष्टाचार के अलावा कुछ नहीं किया। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने वल्लभ भवन को दलालों की मंडी बनाने का पाप किया है। 2003 के पहले भी प्रदेश को मिस्टर बंटाढार ने बर्बाद कर दिया। कांग्रेस की सरकारें तो मध्यप्रदेश के लिए तबाही का प्रतीक बन गई है। इनके पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और कमलनाथ के लिए विकास के कार्य असंभव होते थे, लेकिन भाजपा की सरकार तो प्रदेश में विकास के लिए ही बनी है। हम विकास के कार्यों में कोई कमी नहीं आने देंगे। हमारा तो नारा ही सबका साथ-सबका विकास है। ये बातें मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कही। वे मंगलवार को मांधाता विधानसभा के किल्लौद माल में जनसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने नेपानगर के देड़तलाई एवं अनूपपुर विधानसभा के खोटा टोल में भी सभाओं को संबोधित किया।

 

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश भाजपा 28 अक्टूबर को 28 विधानसभाओं में जारी करेंगे संकल्प पत्र

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अफसरों के पदों की बोली लगाई। उनसे पैसा कमाया। उनके पास कांग्रेस के मंत्री-विधायक विकास कार्यों के लिए जाते थे तो वे कहते थे कि खजाना खाली है। पैसे नहीं हैं, लेकिन हम क्या ओरंगजेब थे, जो हमने खजाना लूट लिया। कमलनाथ के पास विकास कार्य कराने की इच्छाशक्ति नहीं थी। हमने भी विकास कराया और अभी कोरोना काल के कारण कुछ दिक्कतें हैं, लेकिन विकास कार्यों के लिए कोई कमी नहीं है। विकास के लिए हमारा खजाना हमेशा भरा हुआ है। उन्होंने कहा कि मैं अपनी जनता के सामने जाकर उन्हें घूटने टेककर प्रणाम करता हूं तो कांग्रेसी कहते हैं कि शिवराज सिंह चौहान ने तो जनता के सामने घूटने ही टेक दिए हैं, लेकिन वे क्या जाने कि लोकतंत्र में जनता ही भगवान होती है और भगवान के आगे यदि मैं झुककर प्रणाम करता हूं तो उन्हें इससे भी दिक्कत है।

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस अत्याचारी, इसलिए सिंधिया ने सरकार गिराई : उमा भारती

उन्होंने कहा कि चुनाव है तो कांग्रेसी आएंगे, शराब, कंबल और नोट के लालच का जाल फैलाएंगे, कर्जमाफी का जाल फैलाएंगे, लेकिन इस बार इनके जाल में फंसना नहीं है। इस बार उनके झूठे वचनों में आकर नुकसान नहीं करवाना है। यदि सरकार का विधायक जीतेगा तो क्षेत्र में विकास ही विकास होंगे और यदि कोई भी जीत गया तो वह विकास नहीं कराएगा, वह तो अपना भला करेगा। उन्होंने मांधाता विधानसभा के किल्लौद में सभा को संबोधित करते हुए कहा कि किल्लौद को तहसील बनाया जाएगा। भले ही किल्लौद प्रदेश की सबसे छोटी तहसील बने, लेकिन बनाया जाएगा। आदिवासियों के कब्जे वाली राजस्व की जमीनों पर उनको पट्टे भी दिए जाएंगे।  

 

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस सरकार में ‘लॉ’ दिग्विजय सिंह चलाते थे, ‘ऑर्डर’ कमलनाथ देते थेः कैलाश विजयवर्गीय

इस दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस सरकार में हुए किसान कर्जमाफी के प्रमाण पत्र दिखाते हुए कहा कि कमलनाथ ने कर्जमाफी का झूठा वादा करके सरकार बनाई और जब कर्जमाफी करने की बारी आई तो झूठे सर्टिफिकेट ही बांट दिए। कमलनाथ और इनके नेता राहुल गांधी ने वचन दिया था कि सरकार में आते ही 10 दिनों के अंदर किसानों का कर्जमाफ कर देंगे। यदि कर्जमाफ नहीं कर सके तो मुख्यमंत्री ही बदल देंगे, लेकिन न तो कर्जमाफी हुई और न ही 10 दिनों में मुख्यमंत्री बदल पाए। उन्होंने कहा कि इन्होंने किसानों की कर्जमाफी तो नहीं की, बल्कि किसानों को और ज्यादा कर्जदार बना दिया। किसान दो लाख रूपए के चक्कर में आ गए और डिफाल्टर हो गए। अब वे सहकारी समितियों से खाद, बीज नहीं उठा पा रहे हैं। कमलनाथ ने किसानों के साथ धोखा, छलावा और फरेब किया है, लेकिन यह प्रदेश के किसान हैं, कमलनाथ-कांग्रेस को बता देंगे कि उनके साथ धोखा करने का नतीजा क्या होता है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़