बरेली में कांवड़ियों पर गंदा पानी फेंकने, डीजे बजाने पर विवाद के बाद छह लोग हिरासत में

Bareilly
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
जुलाई बरेली के कैंट थाना क्षेत्र में शुक्रवार को कांवड़ियों के डीजे संगीत बजाने को लेकर दूसरे समुदाय के लोगों के विरोध करने पर विवाद हो गया। पुलिस ने बताया कि किकैंट थाना क्षेत्र के लखौरा गांव से कांवड़ियों का जत्था शुक्रवार को परगवां गांव से निकल रहा था। गांव में दूसरे समुदाय के कुछ लोगों ने डीजे बजाने को लेकर आपत्ति जताई और उसी दौरान किसी ने छत से कांवड़ियों के जत्थे के ऊपर पानी फेंक दिया, जिसके बाद विवाद हो गया।

बरेली (उत्तर प्रदेश), 30 जुलाई। बरेली के कैंट थाना क्षेत्र में शुक्रवार को कांवड़ियों के डीजे संगीत बजाने को लेकर दूसरे समुदाय के लोगों के विरोध करने पर विवाद हो गया। आरोप है कि दूसरे समुदाय के लोगों ने कांवड़ियों पर छत से गंदा पानी भी डाल दिया, इस बात को लेकर कावड़ियों ने जमकर हंगामा किया और कार्रवाई की मांग की। मामले में पुलिस ने छह लोगों को हिरासत में लिया है।

पुलिस ने बताया कि किकैंट थाना क्षेत्र के लखौरा गांव से कांवड़ियों का जत्था शुक्रवार को परगवां गांव से निकल रहा था। गांव में दूसरे समुदाय के कुछ लोगों ने डीजे बजाने को लेकर आपत्ति जताई और उसी दौरान किसी ने छत से कांवड़ियों के जत्थे के ऊपर पानी फेंक दिया, जिसके बाद विवाद हो गया। हंगामे की सूचना पर पुलिस और प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंचे और कांवड़ियों को समझा कर रवाना किया।

पुलिस अधीक्षक (नगर) रविन्द्र कुमार ने बताया कि डीजे बजाने को लेकर विवाद हुआ था। कांवड़ियों के ऊपर पानी फेंकने का भी आरोप है। मामले में छह लोगों को हिरासत में लिया गया है। बरेली के अपर जिलाधिकारी प्रशासन वीके सिंह ने बताया कि गांव में पुलिस बल तैनात है। उन्होंने कहा कि गंगा नदी से जल लेने के लिए जो कांवड़िये जा रहे हैं उनकी सुरक्षा के प्रबंध किए गए हैं। सिंह ने कहा कि जिन लोगों ने कांवड़ियों को रोकने का प्रयास किया उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़