श्रीधरन का भाजपा में शामिल होना महज हथकंडा, केरल में UDF और LDF के बीच होगी सीधी टक्कर: तारिक अनवर

tariq anwar
कांग्रेस महासचिव तारिक अनवर ने कहा कि मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के नाम की घोषणा करना पार्टी की परंपरा नहीं है और मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार का नाम चुनाव बाद आपसी सहमति से तय होगा।

नयी दिल्ली। कांग्रेस की केरल इकाई के प्रभारी तारिक अनवर ने मेट्रोमैन ई. श्रीधरन के भाजपा में शामिल होने को महज ‘‘हथकंडा’’ करार दिया और कहा कि राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव में यूडीएफ और सत्तारूढ़ एलडीएफ के बीच सीधी टक्कर रहेगी और लोग भाजपा पर अपना ‘‘वोट’’ बर्बाद नहीं करेंगे। अनवर ने साथ ही कहा कि राज्य में भाजपा अहम भूमिका में नहीं होगी। कांग्रेस महासचिव ने यह भी कहा कि मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के नाम की घोषणा करना पार्टी की परंपरा नहीं है और मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार का नाम चुनाव बाद आपसी सहमति से तय होगा। 

इसे भी पढ़ें: मेट्रो मैन 'श्रीधरन' औपचारिक रूप से भाजपा में हुए शामिल, बोले- यह जीवन का सबसे महान क्षण है 

अनवर ने ‘पीटीआई-भाषा’ को दिए एक साक्षात्कार में उम्मीद जताई कि कांग्रेस की अगुवाई वाले यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (यूडीएफ) केरल में अगली सरकार बनाएगी और चुनाव में मुख्य मुद्दा पिछले पांच वर्षों में लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट (एलडीएफ) की सरकार का ‘भ्रष्टाचार और कुप्रबंधन’’ रहेगा। उन्होंने कहा,‘‘ परिणाम यूडीएफ के पक्ष में आएगा। पिछली बार लोगों ने एलडीएफ को बहुमत दिया था लेकिन पिछले पांच वर्ष में उनका कामकाज अच्छा नहीं रहा और हाल ही में तीन-चार घोटाले भी सामने आए हैं जिनमें माकपा का कार्यालय भी संदेह के घेरे में आ गया है। ’’

यह पूछे जाने पर कि ऐसे कौन से मुद्दे हैं जिनसे एलडीएफ को आने वाले चुनावों में झटका लग सकता है, उन्होंने कहा कि अमेरिका की कंपनी से हाल ही में हुए करार से मछुआरों में असंतोष है और कोविड-19 के दौरान ‘कुप्रबंधन’ से भी लोगों में नाराजगी है। उन्होंने कहा,‘‘ स्थितियां यूडीएफ के पक्ष में हैं क्योंकि पांच वर्षों से यहां सरकार के खिलाफ लहर है।’’ मेट्रोमैन ई श्रीधरन के भाजपा के शामिल होने और चुनाव पर इसके असर के बारे में पूछे जाने पर अनवर ने कहा, ‘‘मुझे नहीं लगता कि इससे कोई खास प्रभाव पड़ेगा। वह अच्छे टेक्नोक्रेट हो सकते हैं लेकिन उनका जनता के साथ कोई संबंध नहीं है।’’ 

इसे भी पढ़ें: मेट्रो मैन से मिलेगी पॉवर और उड़न परी से रफ्तार, केरल में कमल के लिए बीजेपी की बड़ी तैयारी 

कांग्रेस नेता ने कहा,‘‘ केरल की जनता राजनीतिक रूप से बेहद सजग है और मुझे नहीं लगता कि अचानक से कोई नाम आगे कर देने से कोई खास अंतर पड़ेगा।’’ उन्होंने कहा कि भाजपा की राज्य में मौजूगी सीमित है इसलिए वे इस प्रकार के ‘‘हथकंडों’’ से अपनी मौजूदगी का एहसास कराना चाहते हैं। अनवर ने कहा भाजपा राज्य में अहम भूमिका में नहीं होगी।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़