चोरी की गई बकरी बनी सरकारी मेहमान, पुलिस कर रही है खातिरदारी

चोरी की गई बकरी बनी सरकारी मेहमान, पुलिस कर रही है खातिरदारी

चोरी से बरामद चीजों के संबंध में न्यायालय ही निर्णय लेता है। ऐसे में चोरी गई बकरी बरामद होने के बाद संबंधित चौकी पुलिस को उसकी खातिरदारी करनी पड़ रही है। पुलिस की मानें तो अब न्यायालय के आदेश में आगे की कार्यवाही की जाएगी।

भोपाल। मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले में जिले में अजीब मामला सामने आया है। यहां किसी व्यक्ति नहीं बल्कि एक पालतू जानवर की खातिरदारी प्रशासन को करनी पड़ रही है। यह मामला चोरी से जुड़ा हुआ है।

दरअसल चोरी से बरामद चीजों के संबंध में न्यायालय ही निर्णय लेता है। ऐसे में चोरी गई बकरी बरामद होने के बाद संबंधित चौकी पुलिस को उसकी खातिरदारी करनी पड़ रही है। पुलिस की मानें तो अब न्यायालय के आदेश में आगे की कार्यवाही की जाएगी।

इसे भी पढ़ें:बढ़ते कोरोना संक्रमण के बाद एमपी सरकार ने लागू की नई बंदिशें, CM ने दिए निर्देश 

आपको बता दें कि पूरा मामला शिवपुरी जिले के बदरवास जनपद क्षेत्र के ग्राम बारई का है। जहां धर्मेद्र यादव नामक व्यक्ति बीती रात गांव के ही सूरज पाल की बाइक और प्रकाश पाल की बकरी चोरी करके बकरी को बेचने के लिए लुकवासा आ रहा था।

इस दौरान पुलिस ने चैकिंग के दौरान उसे रोककर पूछताछ की। धर्मेद्र न तो बाइक के बारे में स्पष्ट जानकारी दे पाया और न ही बकरी के बारे में। पुलिस ने संदेह के आधार पर उसे चौकी में बिठा लिया और पूछताछ की तो सारा मामला साफ हो गया। लुकवासा चौकी की पुलिस ने बकरी और बाइक दोनों को जब्ती में ले लिया।

इसे भी पढ़ें:संत आसाराम बापू के आश्रम में हुआ विस्फोट, 1 की मौत 

पुलिस ने संदेह के आधार पर उसे चौकी में बिठा लिया और पूछताछ की तो सारा मामला साफ हो गया। लुकवासा चौकी की पुलिस ने बकरी और बाइक दोनों को जब्ती में ले लिया। आदि की व्यवस्था की है। अब न्यायालय के आदेश पर बकरी के संबंध निर्णय लेंगे।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।