राजस्थान में मंदिर हटाने गये पुलिसकर्मियों पर पथराव; छह पुलिसकर्मी घायल

Police
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
अधिकारी ने बताया कि राजस्थान उच्च न्यायालय ने सतपुर गांव में एक तालाब पर अतिक्रमण कर बनाए गए मंदिर को हटाने का आदेश दिया था। उन्होंने बताया कि हिंसा के सिलसिले में करीब दो दर्जन लोगों को हिरासत में लिया गया है।

राजस्थान के सिरोही जिले के आबूरोड क्षेत्र में बुधवार को एक मंदिर हटाने का विरोध कर रहे स्थानीय लोगों द्वारा किए गए पथराव में छह पुलिसकर्मी घायल हो गये। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। अधिकारी ने बताया कि राजस्थान उच्च न्यायालय ने सतपुर गांव में एक तालाब पर अतिक्रमण कर बनाए गए मंदिर को हटाने का आदेश दिया था। उन्होंने बताया कि हिंसा के सिलसिले में करीब दो दर्जन लोगों को हिरासत में लिया गया है।

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि आबूरोड तालाब के पास बने एक छोटे मंदिर के ढांचे को उच्च न्यायालय के निर्देश पर हटाया जा रहा था, उसी दौरान कुछ लोगों ने सड़क अवरुद्ध कर दिया और धार्मिक नारेबाजी करने लगे। उन्होंने बताया कि पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए हल्का बल प्रयोग किया लेकिन गुस्से से भरे लोगों ने पथराव शुरू कर दिया, जिसमें एक एएसपी और एक डीएसपी सहित छह पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं। सिरोही की पुलिस अधीक्षक ममता गुप्ता ने बताया कि हालात अब काबू में हैं। उन्होंने कहा, ‘‘मंदिर को हटाने की कार्यवाही उच्च न्यायालय के निर्देश पर की जा रहीथी और स्थानीय लोग इसका विरोध कर रहे थे।’’ इसबीच, कुछ दक्षिणपंथी संगठनों ने मंदिर गिराए जाने के विरोध में बृहस्पतिवार को आबूरोड पर एक दिन का बंद आहूत किया है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़