शिवराज सरकार का अजीब आदेश, सुबह- दोपहर अभिभावक और छात्र बजाएंगे थाली

शिवराज सरकार का अजीब आदेश, सुबह- दोपहर अभिभावक और छात्र बजाएंगे थाली

आदेश के अनुसार इसमें बच्चे के पास सीखने के स्त्रोत में उपलब्ध रेडियो, पाठ्यपुस्तक और अभ्यास पुस्तिका के आधार पर लर्निग पैकेज तैयार किया गया है। सरकार ने मध्य प्रदेश राज्य शिक्षा केन्द्र के सभी जिला कलेक्टर्स को फरमान जारी किया है।

भोपाल। मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार ने एक अजीब आदेश जारी किया है। इस आदेश में साफ-साफ लिखा है कि सुबह से छात्र और अभिभावक घंटी और थाली बजाएंगे। यह आदेश “हमारा घर हमारा विद्यालय” योजना के तहत जारी किया गया है।

दरअसल शिक्षा केंद्र ने छात्रों को लेकर एक आदेश जारी किया है जिसमें लिखा है कि हमारा घर हमारा विद्यालय योजना के तहत प्रतिदिन सुबह घंटी और थाली बजाकर 10 बजे अपने घर में शुरूआत करे। और इसी प्रकार दोपहर 1 बजे बजाकर अवकाश किया जाएगा।

इसे भी पढ़ें:MP में कोरोना का महाविस्फोट, बीते 24 घंटे में मिले 5 हजार से ज्यादा मरीज 

वहीं आदेश के अनुसार इसमें बच्चे के पास सीखने के स्त्रोत में उपलब्ध रेडियो,  पाठ्यपुस्तक और अभ्यास पुस्तिका के आधार पर लर्निग पैकेज तैयार किया गया है। सरकार ने मध्य प्रदेश राज्य शिक्षा केन्द्र के सभी जिला कलेक्टर्स को फरमान जारी किया है। जिससे अब एक बार फिर घरों में घंटी और थाली बजाने का सिस्टम लौट आया है।

परिवार के सदस्यों की भूमिका: 

  1. शिक्षा का स्थान कोना निर्धारित समय पर बच्चों का घर में लिखने पढ़ने के लिए एक स्थान नियत करेंगे।
  2. निर्धारित विषय का कार्य करने के लिए प्रेरित करेंगे।
  3. बच्चों को आवश्यक स्टेशनरी सुबह 10:00 से दोपहर 1:00 बजे गतिविधि के अनुसार यथासंभव सामग्री उपलब्ध कराएंगे।
  4. पेंसिल, कॉपी, स्केच पेन, कलर पेंसिल और पुराने पेपर आदि उपलब्ध कराएंगे।
  5. डिजिटल वीडियो के माध्यम से प्राप्त सामग्री के अध्ययन के लिए सुविधा अनुसार बच्चों को मोबाइल उपलब्ध कराना।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।