26/11 मुंबई आतंकी हमले को लेकर सुब्रमण्यम स्वामी का खुलासा, पाक के साथ इसका भी था हाथ

26/11 मुंबई आतंकी हमले को लेकर सुब्रमण्यम स्वामी का खुलासा, पाक के साथ इसका भी था हाथ

सुब्रमण्यम स्वामी लगातार भाजपा से नाराज चल रहे हैं। वह खुलकर मोदी सरकार की आलोचना करते हैं। इसके साथ ही पिछले सप्ताह ममता बनर्जी के दिल्ली दौरे के दौरान उन्होंने उनसे मुलाकात की थी।

अक्सर सुर्खियों में रहने वाले सुब्रमण्यम स्वामी ने 26/11 मुंबई आतंकी हमले को लेकर सनसनीखेज खुलासा किया है। अपने ट्वीट के जरिए सुब्रमण्यम स्वामी ने बताया कि 26/11 मुंबई आतंकी हमले में किसका हाथ था। अपने ट्वीट में सुब्रमण्यम स्वामी ने लिखा कि यह हैरान करने वाला है। 26/11 के हमले के समय यूपीए सरकार में गृह मंत्रालय के अंडर सेक्रेट्री रहे आरवीएस मणि ने माना था कि 2008 में पाकिस्तानी अजमल कसाब एंड कंपनी द्वारा मुंबई आतंकी हमलों के दौरान पर्दे के पीछे क्या हुआ था, इस पर खुले तौर पर खुलासा किया था। यह टीडीके सहित पाकिस्तान का काम था। हालांकि सुब्रमण्यम स्वामी ने यह साफ नहीं किया है कि टीडीके से उनका आशय क्या है? वैसे आरवीएस मणि का जिक्र करते हुए सुब्रमण्यम स्वामी ने मुंबई हमलों को लेकर कई बार यूपीए सरकार की भूमिका पर भी सवाल उठा चुके हैं।

सवाल को लेकर ट्वीट

इन सबके बीच सुब्रमण्यम स्वामी ने एक ट्वीट किया है जिसमें उन्होंने भाजपा की सरकार पर सवाल खड़े किए हैं। सुब्रमण्यम स्वामी ने अपनी पीठ में बताया है कि संसद की मौजूदा शीतकालीन सत्र में उन्हें लद्दाख में चीन के कथित घुसपैठ पर सवाल पूछने से रोक दिया गया। सुब्रमण्यम स्वामी ने अपने ट्वीट में लिखा किया त्रासदीपूर्ण नहीं हास्यास्पद है कि राज्यसभा ने मेरे सवाल पर मुझे सूचित किया कि इस प्रश्न को राष्ट्रीय हित में अनुमति नहीं दी जा सकती है। इसके साथ सुब्रमण्यम स्वामी ने आज एक और सवाल को लेकर आरोप लगाया कि उन्हें राज्यसभा में पूछने नहीं दिया गया। आज उनका सवाल पीएम को दिए उपहारों और स्मृति चिन्हों की नीलामी को लेकर था। 

इसे भी पढ़ें: Prabhasakshi's Newsroom। नारायण राणे के बयान से उद्धव सरकार की बढ़ी चिंता। MEA ने पाक से कही यह बात

आपको बता दें कि सुब्रमण्यम स्वामी लगातार भाजपा से नाराज चल रहे हैं। वह खुलकर मोदी सरकार की आलोचना करते हैं। इसके साथ ही पिछले सप्ताह ममता बनर्जी के दिल्ली दौरे के दौरान उन्होंने उनसे मुलाकात की थी। सुब्रमण्यम स्वामी मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों की लगातार आलोचना की है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।