सोनिया गांधी और लालू यादव के बीच फोन पर हुई बात, क्या गठबंधन में आई कड़वाहट हो पाएगी दूर?

सोनिया गांधी और लालू यादव के बीच फोन पर हुई बात, क्या गठबंधन में आई कड़वाहट हो पाएगी दूर?

इन सब के बीच आज लालू यादव ने यूपीए अध्यक्षा सोनिया गांधी से फोन पर बात की। सोनिया गांधी से बात करने के बाद लालू यादव ने कहा कि मैंने सोनिया गांधी से फोन पर बात की और उनकी तबीयत के बारे में पूछा।

राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव बिहार पहुंच चुके हैं। राजद के लिए उपचुनाव में वह चुनाव प्रचार भी करने वाले हैं। इन सबके बीच बिहार पहुंचते ही लालू यादव पुराने रंग में नजर आ रहे हैं। लालू जोरदार तरीके से भाजपा और नीतीश कुमार पर प्रहार कर रहे हैं। इसके साथ ही कांग्रेस के बिहार प्रभारी भक्त चरण दास के लोकसभा चुनाव अकेले लड़ने के दावे पर भी अपनी राय रखी थी। उपचुनाव को लेकर कांग्रेस और राजद के गठबंधन में खटास देखा गया। दोनों दलों ने अपने-अपने उम्मीदवार उतारे हैं। कन्हैया कुमार के कांग्रेस में शामिल होने के बाद राजद की दूरियां और भी ज्यादा हो गई। माना जा रहा है कि दोनों दलों के बीच गठबंधन में खटपट दमदार तरीके से हो चुका है।

लालू का बयान

इन सब के बीच आज लालू यादव ने यूपीए अध्यक्षा सोनिया गांधी से फोन पर बात की। सोनिया गांधी से बात करने के बाद लालू यादव ने कहा कि मैंने सोनिया गांधी से फोन पर बात की और उनकी तबीयत के बारे में पूछा। मैंने उनसे ये भी बोला कि सभी पार्टियां, जिनकी समान विचारधारा है, उन्हें इकठ्ठा किया जाए, जिससे एक मजबूत विकल्प बनाया जा सके और उनके साथ एक बैठक बुलाई जाए। इससे पहले बिहार में अपने कनिष्ठ गठबंधन सहयोगी कांग्रेस पर तीखे हमले के बाद राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद ने कहा था कि वह आज भी कांग्रेस को राष्ट्रीय स्तर पर एक विकल्प के रूप में मानते हैं। तीन साल बाद अपने गृह राज्य बिहार लौटे लालू ने मंगलवार को कहा कि वह आज भी कांग्रेस को ‘‘राष्ट्रीय विकल्प’’ के रूप में मानते हैं जिसकी देश को जरूरत है। 

इसे भी पढ़ें: Prabhasakshi's NewsRoom । नीतीश बोले- लालू चाहें तो गोली मरवा दें, नवाब मलिक पर भाजपा का हमला

कांग्रेस पर किया था हमला

उन्होंने हाल में कांग्रेस के साथ तकरार के लिए ‘‘छुटभैया’’ नेताओं को जिम्मेदार ठहराते हुए इस बात को रेखांकित किया कि किसी ने भी इस दल की उतनी ‘‘मदद’’ नहीं की है और न ही ‘‘बचाव’’ किया है जितनी उन्होंने की है। राजद द्वारा तारापुर और कुशेश्वरस्थान विधानसभा सीटों के लिए होने वाले उपचुनाव में अपने उम्मीदवारों को मैदान में उतारने का एकतरफा फैसला करने पर कांग्रेस ने अगले लोकसभा चुनाव में बिहार में अकेले उतरने का फैसला किया था, लालू ने इसे लेकर तीखे हमले किए थे। कई बीमारियों से पीड़ित लालू ने कहा कि वह बुधवार को चुनाव प्रचार के अंतिम दिन दोनों निर्वाचन क्षेत्रों का दौरा करेंगे। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।