तेजस्वी बोले- कन्हैया और पप्पू यादव मंजूर लेकिन नीतीश और बीजेपी नहीं

तेजस्वी बोले- कन्हैया और पप्पू यादव मंजूर लेकिन नीतीश और बीजेपी नहीं

इससे पहले तेजस्वी ने ट्वीट कर नीतीश को ''अफवाह महाशय'' बताया था और कहा था कि 15 साल राज करने के बाद भी अफ़वाह महाशय कह रहे है कि बिहार ग़रीब राज्य है।

राजद नेता और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने एक बार फिर से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधा है। तेजस्वी ने कहा कि नीतीश कुमार कहते थे कि वह RSS के साथ समझौता नहीं करेंगे पर आज वह उन्हीं लोगों के साथ हैं। तेजस्वी ने कहा कि मेरे पिता लालू यादव ने भाजपा और RSS से साथ कभी समझौता नहीं किया और उनका खून ही मेरे अंदर है। इसलिए जीते जी हम भी सौदा नहीं करेंगे। नीतीश के एक बार फिर महागठबंधन में शामिल होने की खबर पर तेजस्वी ने कहा कि कन्हैया और पप्पू मंजूर हैं लेकिन नीतीश कुमार और बीजेपी मंजूर नहीं है। तेजस्वी के इस बयान के कई मायने निकाले जा रहे हैं। 

इससे पहले तेजस्वी ने ट्वीट कर नीतीश को 'अफवाह महाशय' बताया था और कहा था कि 15 साल राज करने के बाद भी अफ़वाह महाशय कह रहे है कि बिहार ग़रीब राज्य है। नीतीश सरकार स्वयं विफलताएँ स्वीकार कर अपनी प्रचंड नाकामी की अपनी ही ज़ुबानी गवाही दे रही है। बिहार में लोगों को नून-रोटी नसीब नहीं हो रही है और ये महोदय टीवी पर बिस्कुट-केक खाने की परिकथाएँ सुना रहे है। वहीं सुशील मोदी पर निशाना साधते हुए तेजस्वी ने कहा कि बिहार के सबसे बड़े कुतर्क मास्टर सुशील मोदी कभी कहते है सावन-भादो की वजह से मंदी है। कभी कहते है पितृ पक्ष, कभी खरमास, कभी बाढ़-सुखाड़ तो कभी क़ानून व्यवस्था-प्राकृतिक आपदा की वजह से मंदी है। इनके बेतुके कुतर्कों का भावार्थ है कि युवा घबराए नहीं अगले 30 वर्ष में नौकरी मिल जाएगी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।