भारत में आतंकवाद से निपटा जा सकता है अगर पाक नेतृत्व ईमानदारी से करे काम

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 29, 2018   09:48
भारत में आतंकवाद से निपटा जा सकता है अगर पाक नेतृत्व ईमानदारी से करे काम

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भारत में आतकंवाद को प्रायोजित करने के लिए पाकिस्तान की बुधवार को आलोचना की। उन्होंने कहा कि इस खतरे से निपटा जा सकता है, अगर उस देश का नेतृत्व ईमानदारी से इस दिशा में काम करे।

मंडी। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भारत में आतकंवाद को प्रायोजित करने के लिए पाकिस्तान की बुधवार को आलोचना की। उन्होंने कहा कि इस खतरे से निपटा जा सकता है, अगर उस देश का नेतृत्व ईमानदारी से इस दिशा में काम करे। हिमाचल प्रदेश के मंडी संसदीय क्षेत्र में भाजपा कार्यकर्ताओं की एक बैठक ‘पन्ना प्रमुख सम्मेलन’ में सिंह ने कहा कि देश में नक्सलवाद 90 जिलों से सिमट कर मात्र नौ जिलों तक रह गया है। उन्होंने कहा कि इसी तरह केंद्र में मौजूदा भाजपा सरकार के दौरान आतंकवाद की घटनाएं भी तीन से चार जिलों तक सीमित हो गई हैं।

इसे भी पढ़ें: राजनाथ का कांग्रेस पर तंज, कहा- राजनीति में विश्वास का संकट पैदा किया

सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश तेजी से विकसित हो रहा है। उन्होंने कहा, “पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने देश में बैंको का राष्ट्रीयकरण यह कहते हुए किया था कि इससे बैंकिंग सेवाएं ग्रामीण जनता तक पहुंचेगी लेकिन वांछित परिणाम प्राप्त नहीं हुए।” सिंह ने कहा, “केंद्र की मौजूदा सरकार बैंकिंग सेवाओं को लोगों की दहलीज तक लेकर आई है और आम लोगों के 33 करोड़ बैंक खाते खोले गए।” 

इसे भी पढ़ें: मंदिर और गाय मामले में राजनाथ का बयान, कहा- कांग्रेसियों ने बनाया चुनावी मुद्दा

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की प्रशंसा करते हुए सिंह ने कहा कि वह केंद्र से सहायता प्राप्त कई योजनाओं को राज्य में लेकर आए हैं। गृह मंत्री ने आगामी लोकसभा चुनावों में एक बार फिर पार्टी को सत्ता में लाने के लिए भाजपा कार्यकर्ताओं से अनुशासित तरीके से काम करने की अपील की। मंडी संसदीय निर्वाचन क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले 17 विधानसभा क्षेत्रों से भाजपा पन्ना प्रमुख इस कार्यक्रम में शामिल हुए।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।