उप चुनावा में में मिली हार हमारे लिये चेतावनी है, अब अगले चुनाव में कड़ी मेहनत के साथ उतरेंगे जय राम ठाकुर

उप चुनावा में में मिली हार हमारे लिये चेतावनी है, अब अगले चुनाव में कड़ी मेहनत के साथ उतरेंगे    जय राम ठाकुर

जय राम ठाकुर ने चुनावी हार पर अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि चुनाव परिणामों को राज्य सरकार के कामों के मूल्यांकन के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए। इन चुनावों में बीजेपी की हार के पीछे कई कारण हैं, जिसके लिए विश्लेषण और मंथन की आवश्यकता है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि“इस हार के कई कारण हो सकते हैं, लेकिन पार्टी में अति विश्वास था

शिमला। हिमाचल प्रदेश में सत्तारूढ दल को उपचुनावों में चारों सीटों पर मिली हार पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर  की मुसीबतें कम नहीं हुई हैं। एक ओर विपक्षी दल कांग्रेस आक्रामक हुआ है तो पार्टी के भीतर भी उन्हें अपने विरोधियों से चुनौती मिल रही है। लेकिन खुद जय राम ठाकुर इस हार को भाजपा के लिये समय रहते चेतावनी के तौर पर देख रहे हैं। व कहते हैं कि पार्टी को अतिआत्मविश्वास से छुटकारा मिलेगा। हालांकि इससे पहले उन्होंने इस हार के लिये महंगाई को दोषी माना था।

 

इसे भी पढ़ें: हिमाचल के बीड़ बिलिंग में सुरक्षा नियमों की अनदेखी से पैराग्लाइडिंग के दौरान युवक की मौत

 

जय राम ठाकुर ने चुनावी हार पर अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि चुनाव परिणामों को राज्य सरकार के कामों के मूल्यांकन के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए। इन चुनावों में बीजेपी की हार के पीछे कई कारण हैं, जिसके लिए विश्लेषण और मंथन की आवश्यकता है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि“इस हार के कई कारण हो सकते हैं, लेकिन पार्टी में अति विश्वास था, जिसकी हमें इन चुनावों में भारी कीमत चुकानी पड़ी। लेकिन यह विधानसभा चुनाव से ठीक एक साल पहले हमारे लिए समय पर चेतावनी है और अब हम कोई कोर कसर नहीं छोड़ेंगे और आगामी चुनाव में कड़ी मेहनत के साथ उतरेंगे।

 

इसे भी पढ़ें: जनमंच में बुजुर्ग महिला ने हाथों में थैला लिए रजिस्ट्री कराने की लगाई फरियाद, बिक्रम बोले तुरंत करो कार्रवाई

 

प्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों पर ठाकुर ने कहा कि वह हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में अपने कार्यकाल की शुरुआत से ही इस तरह की अफवाहें सुन रहे हैं। उन्होंने कहा, “मैं शुरू से ही हिमाचल प्रदेश में मुख्यमंत्री बदलने की अफवाहें और अटकलें सुनता रहा हूं। लेकिन एक बात मैं विश्वास के साथ कह सकता हूं कि भाजपा में जोड़तोड़ काम नहीं करते हैं, खासकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में। अब तक हमने राज्य के सभी उपचुनावों में जीत हासिल की है और इस उपचुनाव के नतीजे को मेरी सरकार के अंतिम आंकलन के तौर पर नहीं देखा जाना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: लोगों की समस्याओं के स्थायी समाधान को सरकार वचनबद्ध : राकेश पठानिया

उपचुनाव के परिणामों पर ठाकुर ने कहा कि भाजपा मंडी लोकसभा सीट मामूली अंतर से हारी है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत वीरभद्र सिंह की पत्नी प्रतिभा सिंह को मैदान में उतारा था और उन्होंने सहानुभूति का फायदा उठाकर जीत हासिल की। आगामी विधानसभा चुनावों के बारे में बात करते हुए कहा कि भाजपा राज्य में बेहद मजबूत है और चुनाव में इसे साबित भी करेगी।

हाल ही में राज्य में हुए उपचुनावों में भाजपा अर्की, फतेहपुर और जुब्बल-कोटखाई विधानसभा सीटों के साथ-साथ मंडी की लोकसभा सीट पर भी हार गई। मंडी लोकसभा सीट सीएम जयराम ठाकुर की गृह सीट है। 2019 के आम चुनावों में भाजपा ने मंडी को जीता था। 

इसे भी पढ़ें: टांडा मैडिकल कालेज के डॉ.मुकुल कुमार भटनागर शान-ए-हिन्द अवार्ड से सम्मानित

भाजपा प्रदेश कार्यसमिति बैठक का आयोजन 24, 25 एवं 26 नवम्बर को होटल पीटरहाॅफ शिमला में होने जा रहा है। 24 नवम्बर, 2021 को कोर ग्रुप की बैठक का आयोजन किया जाएगा जिसकी अध्यक्षता प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद सुरेश कश्यप करेंगे। इस बैठक में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं क्षेत्रीय प्रभारी सौदान सिंह, प्रभारी अविनाश राय खन्ना, सह प्रभारी संजय टंडन, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, पूर्व मुख्यमंत्री प्रो0 प्रेम कुमार धूमल, शांता कुमार,  केन्द्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर सहित कोर ग्रुप के सदस्य उपस्थित रहेंगे। दूसरे दिन 25 नवम्बर  प्रातः विस्तारित कोर ग्रुप की बैठक होगी जिसके बाद प्रदेश पदाधिकारी बैठक का आयोजन किया जाएगा। 26 नवम्बर को प्रदेश कार्यसमिति बैठक होगी। बैठक में पूर्व कार्यक्रमों की समीक्षा एवं आगामी कार्यक्रमों को लेकर विचार विमर्श किया जाएगा।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।