टांडा मैडिकल कालेज के डॉ.मुकुल कुमार भटनागर शान-ए-हिन्द अवार्ड से सम्मानित

टांडा मैडिकल कालेज के डॉ.मुकुल कुमार भटनागर शान-ए-हिन्द अवार्ड से सम्मानित

डॉ.भटनागर हिमाचल में दसवीं और बारहवीं के टॉपर रह चुके हैं जिसके पश्चात उन्होनें शिमला स्थित आईजीएमसी से एमबीबीएस की। उन्होनें चंडीगढ़ स्थित पीजीआई से एमडी मैडिसन और डीएम कार्डियोलॉजी की। वर्ष 2013 से ही टांडा मैडिकल कालेज के गठन से उन्होंनें कार्डियोलोजी विभाग स्थापित करवाया जबकि वर्तमान में वे कार्डियोलॉजी विभाग के प्रमुख हैं। वे साल में औसतन 2500 एंजियोग्राफी, 700 स्टेंटिंग, 100 टेंपरेरी पेसमेकर, 150 परमानेंट पेसमेकर आदि असंख्य जटिल प्रक्रियाओं को अंजाम दे चुके हैं

धर्मशाला  विधायक व सर्व कल्याणकारी सोसाईटी के चैयरमेन राजेन्द्र राणा के अगुवाई में चंडीगढ़ स्थित सेक्टर 41 में आयोजित हुये एक सम्मान समारोह के दौरान डॉ. राजेन्द्र प्रसाद गर्वमेंट मैडिकल कॉलेज एंड होस्पिटल (टांडा) के कार्डियोलॉजी विभाग के प्रमुख डॉ.मुकुल कुमार भटनागर को मैडिकल क्षेत्र में उनकी उत्कृष्ट कार्यो के लिये नवाजा गया है। चंडीगढ़ के पूर्व सांसद और पूर्व रेल मंत्री पवन कुमार बंसल द्वारा उन्हें शान-ए-हिन्द अवार्ड से नवाजा गया। कार्यक्रम के दौरान विभिन्न कार्यक्षेत्रों से जुड़ी 12 अन्य हस्तियों को भी इस अवसर पर सम्मानित किया गया। इसमें नेरचौक मंडी स्थित मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल के डॉ. अक्षय मिन्हास को भी सम्मानित किया गया।

इसे भी पढ़ें: भगवान बिरसा मुंडा की स्मृति में पहली बार हिमाचल के जनजातीय क्षेत्रों में पहली बार आदि महोत्सव का आयोजन

डॉ.भटनागर हिमाचल में दसवीं और बारहवीं के टॉपर रह चुके हैं जिसके पश्चात उन्होनें शिमला स्थित आईजीएमसी से एमबीबीएस की। उन्होनें चंडीगढ़ स्थित पीजीआई से एमडी मैडिसन और डीएम कार्डियोलॉजी की। वर्ष 2013 से ही टांडा मैडिकल कालेज के गठन से उन्होंनें कार्डियोलोजी विभाग स्थापित करवाया जबकि वर्तमान में वे कार्डियोलॉजी विभाग के प्रमुख हैं। वे साल में औसतन 2500 एंजियोग्राफी, 700 स्टेंटिंग, 100 टेंपरेरी पेसमेकर, 150 परमानेंट पेसमेकर आदि असंख्य जटिल प्रक्रियाओं को अंजाम दे चुके हैं।

इसे भी पढ़ें: मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने जनजातीय नृत्य एवं क्राफ्ट मेला व स्वर्गीय ठाकुर सेन नेगी संग्रहालय का शुभारम्भ किया

पुरस्कार प्राप्त करने पर डॉ.भटनागर ने इस सम्मान का श्रेय उनके मरीजों का उन पर परस्पर विश्वास को दिया। उन्होंने कहा कि यह सम्मान उन्हें और अधिक मजबूती प्रदान करेगा जिससे की वे अपने कार्यक्षेत्र में ओर नये आयाम स्थापित कर सकेंगें।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...