घर-घर पानी पहुंचाने की योजना हुई असफल, खाली बर्तन लेकर रहवासियों ने किया चक्काजाम

घर-घर पानी पहुंचाने की योजना हुई असफल, खाली बर्तन लेकर रहवासियों ने किया चक्काजाम

ग्रामीणों ने कहा है कि गांव में नलजल योजना के तहत कनेक्शन तो दिया गया है। लेकिन उसमें पानी की सप्लाई नहीं की जाती है। जिससे पानी के लिए उन्हें दर-दर भटकना पड़ रहा है। अगर यही हाल गर्मी के मौसम में भी रहा तो और अधिक परेशानी बढ़ जाएगी।

भोपाल। मध्य प्रदेश के डिंडौरी जिले में पानी का संकट बढ़ता जा रहा है। जिले के समनापुर के क्यूटि गांव के ग्रामीण पानी की समस्या को लेकर खाली बर्तन रखकर समनापुर-डिंडौरी मार्ग पर चक्काजाम कर दिया और प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। इस प्रदर्शन के चलते सड़क की दोनों तरफ वाहनों की लाइन लग गई।

दरअसल ग्रामीणों ने कहा है कि गांव में नलजल योजना के तहत कनेक्शन तो दिया गया है। लेकिन उसमें पानी की सप्लाई नहीं की जाती है। जिससे पानी के लिए उन्हें दर-दर भटकना पड़ रहा है। अगर यही हाल गर्मी के मौसम में भी रहा तो और अधिक परेशानी बढ़ जाएगी। 

इसे भी पढ़ें:चाइनीज मांझा बेचने वालों के ठिकानों पर चला बुलडोजर, CM के आदेश पर हुई कार्यवाही 

ग्रामीणों ने आगे कहा कि पानी के लिए उन्हें पैदल आधा किलोमीटर चलना पड़ता है। तब कही जाकर पीने के लिए पानी मिलता है। इससे वो काम काज पर भी नहीं जा पाते हैं। इसके साथ ही बच्चे भी पानी भरने के लिए जाते हैं। इस कारण उन की पढ़ाई भी प्रभावित होती है।

वहीं प्रदर्शन की सूचना मिलते ही डिंडौरी कोतवाली पुलिस और समनापुर नायब तहसीलदार गिरीश धुलेकर समेत पीएचई विभाग के एसडीओ मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों को समझाइश देकर जाम खुलवाय। जिसके बाद कही जाकर मार्ग बहाल हुआ। अधिकारियों ने कहा कि चक्काजाम की सूचना पर वो पहुंचे थे। ग्रामीणों को आश्वासन देकर उन्हें घर भेज दिया गया है। जल्द ही इस समस्या का समाधान कर लिया जाएगा।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।