UP में एक दिन की थानेदार बनी दसवीं की छात्रा आंचल! सुलझाया दो भाइयों का विवाद

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 30, 2020   11:11
UP में एक दिन की थानेदार बनी दसवीं की छात्रा आंचल! सुलझाया दो भाइयों का विवाद

एक दिन के लिए थानेदार बनी छात्रा ने दो भाइयों का विवाद सुलझाया।देहात कोतवाली में अपर पुलिस अधीक्षक (नगर) कुंवर ज्ञानन्जय सिंह ने 11वीं की छात्रा उमा सिंह को कोतवाल का कार्यभार सौंपा।

बहराइच (उप्र)। उत्‍तर प्रदेश सरकार के ‘मिशन शक्ति’ कार्यक्रम के तहत ‘एक दिन की थानेदार’ दसवीं की छात्रा आंचल ने रविवार को दो भाइयों के बीच समझौता कराकर उनका विवाद सुलझा दिया। पुलिस अधीक्षक विपिन मिश्र ने जिले के पांच थानों की कमान रविवार को एक दिन के लिए छात्राओं को सौंपी थी। पुलिस अधीक्षक डा. विपिन मिश्र ने बताया कि महिलाओं एवं बलिकाओं की सुरक्षा, सम्मान एवं उन्हें स्वावलंबी बनाने के लिए मिशन शक्ति के रुप में संचालित विशेष अभियान के अंतर्गत रविवार सुबह गजाधरपुर के एक विद्यालय में पढ़ने वाली आंचल को फखरपुर थाने का एक दिन का प्रभार सौंपा गया था। इसी तरह खैरीघाट थाने में अपर पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) अशोक कुमार ने छात्रा मानसी तिवारी को पुलिस कैप पहनाकर थाने का प्रभार सौंपा।

इसे भी पढ़ें: भारत में कोरोना के 38,772 नए मामले, संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 94.31 लाख

देहात कोतवाली में अपर पुलिस अधीक्षक (नगर) कुंवर ज्ञानन्जय सिंह ने 11वीं की छात्रा उमा सिंह को कोतवाल का कार्यभार सौंपा। मिश्र ने बताया कि महिलाओं एवं बच्चियों को पुलिस की कार्यप्रणाली से रू ब रू कराने, पुलिस का भय कम कर और आत्मविश्वास बढ़ाने के लिए मिशन शक्ति कार्यक्रम के तहत जिले के थानों में छात्राओं को थानेदार बनाने की मुहिम शुरू की गयी है। पहले दिन प्रयोग के रूप में पांच थानों- कोतवाली देहात में 11 वीं की छात्रा उमा सिंह, नानपारा में 10 वीं की छात्रा ईरा फातिमा, खैरीघाट में 12 वीं की छात्रा मानसी तिवारी, पयागपुर में 12वीं की तनिष्का सिंह एवं फखरपुर में दसवीं की छात्रा आंचल ने थानों का प्रभार संभालकर प्रार्थनापत्रों का निस्तारण किया एवं विवादों को सुलझाया।

इसे भी पढ़ें: कांग्रेस सांसद कार्ति ने राजीव हत्या मामले के दोषियों की ‘‘नायकों की तरह पूजा’’ का विरोध किया

थानेदार बनी छात्राओं ने थाने में आए प्रार्थना पत्रों पर फरियादियों की समस्याओं को सुनकर उन पर वहां मौजूद पुलिस अधिकारियों से विचार-विमर्श किया और उनका निस्तारण किया। इस दौरान आंचल के सामने फखरपुर थाना क्षेत्र के दुजईपुरवा गांव के दो सगे भाइयों के बीच बंटवारे के बाद टंकी का पानी बांटने का विवाद आया, जिसे सुलझाने के लिए वह पुलिस कर्मियों को लेकर विवादित स्थल पर पहुंचीं। आंचल ने दोनों भाइयों को समझा-बुझाकर एक ही टंकी से पानी लेने पर राजी कर लिया। जिलाधिकारी शंभू कुमार ने कहा, क्षमतावान होने के बावजूद बहुत सी बेटियां विभिन्न कारणों से आगे नहीं बढ़ पाती हैं। सरकार और प्रशासन इस तरह की कई योजनाओं के माध्यम से बेटियों की लगातार मदद कर रहे हैं। गौरतलब है कि पिछले माह नवरात्रि के पहले दिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में मिशन शक्ति कार्यक्रम की शुरुआत की थी। कार्यक्रम शारदीय नवरात्रि से वासंतिक नवरात्रि तक चलेगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...