देश के युवा पूछ रहे हैं हाउडी एजुकेशन और हाउडी अनइप्लॉयमेंट, जवाब दें मोदी: कांग्रेस

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 26, 2019   20:53
देश के युवा पूछ रहे हैं हाउडी एजुकेशन और हाउडी अनइप्लॉयमेंट, जवाब दें मोदी: कांग्रेस

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह दावा भी किया कि मोदी सरकार में शिक्षा और रोजगार की स्थिति बहुत खराब हो गई है और ऐसे में लोगों को ध्यान भटकाने के लिए ‘हाउडी मोदी’ जैसे कार्यक्रमों का आयोजन हो रहा है।

नयी दिल्ली। कांग्रेस ने देश में उच्च शिक्षा और रोजगार की स्थिति से जुड़ी दो रिपोर्ट का हवाला देते हुए बृहस्पतिवार को कहा कि देश के युवा ‘हाउडी एजुकेशन’ और ‘हाउडी अनइम्पलॉयमेंट’ पूछ रहा है जिसका मोदी को जवाब देना चाहिए। पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह दावा भी किया कि मोदी सरकार में शिक्षा और रोजगार की स्थिति बहुत खराब हो गई है और ऐसे में लोगों को ध्यान भटकाने के लिए ‘हाउडी मोदी’ जैसे कार्यक्रमों का आयोजन हो रहा है। 

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘बेरोजगारी का लावा आज देश के युवाओं में धधक रहा है और वो कभी भी ज्वालामुखी की तरह फट सकता है। देश में मई माह में बेरोजगारी की दर 7.03 प्रतिशत थी जो 50 वर्षों में सबसे अधिक थी। अगस्त के माह में बेरोजगारी लगभग सवा प्रतिशत और बढ़कर 8.19 प्रतिशत हो गई है, जो शायद देश की आजादी के बाद सबसे अधिक है।’’ सुरजेवाला ने दावा किया, ‘‘ पूरी दुनिया में इंटरनेशनल लेबर ऑर्गनाइजेशन का अगर आप बेरोजगारी का आंकड़ा देखें तो वो मात्र 4.95 प्रतिशत है। यानि भारत में दुनिया के मुकाबले दोगुनी बेरोजगारी है।’’

इसे भी पढ़ें: मोदी के साथ ट्विटर वार्तालाप के बाद उठे अटकलों के दौर को देवड़ा ने बताया निराधार

कांग्रेस नेता ने यह भी कहा कि देश में 18 से 23 साल की आयु के 74 प्रतिशत युवा कॉलेज नहीं जा रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘ अंतरराष्ट्रीय श्रमिक संगठन का दुनिया में बेरोजगारी का आंकड़ा मात्र 4.95 प्रतिशत है, यानी भारत में दुनिया के मुकाबले दोगुनी बेरोजगारी है। पुरुषो में बेरोजगारी छह प्रतिशत व महिलाओ में बेरोजगारी 17.5 प्रतिशत है। ये बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ वाली सरकार की असलियत दर्शाने वाला आंकडा है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अब देश के युवाओं का एक बड़ा सीधा सवाल है: हाउडी एजुकेशन और हाउडी अनएप्लॉयपेंट’। प्रधानमंत्री मोदी को इसका जवाब देना चाहिए।’’





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।