देश में PM In Waiting की लंबी है कतार, अपनी ताकत दिखाने को हर कोई बेकरार, चुनावी जुमलों की हो रही बौछार

Kejriwal nitish Kcr
Prabhasakshi
अंकित सिंह । Sep 20, 2022 4:43PM
पीएम इन वेटिंग की बात करें तो शरद पवार, फारुख अब्दुल्ला, ममता बनर्जी, के चंद्रशेखर राव, राहुल गांधी, सोनिया गांधी, ममता बनर्जी, नीतीश कुमार के साथ-साथ कई नेताओं का नाम काफी सुर्खियों में है। सवाल यह है कि विपक्ष एकजुट होकर इन चेहरों में से किसे अपना पीएम पद का उम्मीदवार तय करेगा?

2024 के लोकसभा चुनाव में आकर भी डेढ़ साल से ज्यादा का वक्त है। लेकिन विपक्ष की ओर से इसको लेकर सक्रियता कुछ ज्यादा ही है। यह बात भी सच है कि सत्तारूढ़ भाजपा ने भी अपनी तैयारी शुरू कर दी है। लेकिन सबसे बड़ा सवाल यही है कि आखिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 2024 में चुनौती देने के लिए विपक्ष का चेहरा कौन होगा? इस विपक्ष के चेहरे को लेकर कतार काफी लंबी है। अगर कहा जाए कि एक आनार है सौ बीमार है, तो इसमें कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी। दरअसल, विपक्ष की ओर से पीएम पद के चेहरे को लेकर कई नेता अपनी-अपनी दावेदारी पेश कर रहे हैं। इतना ही नहीं, राष्ट्रीय स्तर की राजनीति में उनकी दिलचस्पी इतनी बढ़ गई है कि 2024 चुनाव को लेकर वह अपने स्तर से ऐलान भी करते दिखाई दे रहे हैं। कई नेता भले ही इस बात को खुलकर स्वीकार नहीं कर रहे हैं कि वह प्रधानमंत्री उम्मीदवार बनने के लिए बेकरार है। लेकिन उनके बयानों से उनकी दिलचस्पी साफ तौर पर जाहिर हो जाती है।

इसे भी पढ़ें: सुशील मोदी की चुनौती, कहीं से भी चुनाव लड़ लें नीतीश कुमार, जब्त होगी जमानत, JDU का पलटवार

पीएम इन वेटिंग की बात करें तो शरद पवार, फारुख अब्दुल्ला, ममता बनर्जी, के चंद्रशेखर राव, राहुल गांधी, सोनिया गांधी, ममता बनर्जी, नीतीश कुमार के साथ-साथ कई नेताओं का नाम काफी सुर्खियों में है। सवाल यह है कि विपक्ष एकजुट होकर इन चेहरों में से किसे अपना पीएम पद का उम्मीदवार तय करेगा? सवाल यह भी है कि क्या विपक्ष एकजुट होगा? क्योंकि राष्ट्रपति चुनाव और उपराष्ट्रपति चुनाव में भले ही विपक्षी एकता की कोशिश की गई थी। लेकिन यह कहीं से नहीं दिखा। पहले से ही पीएम पद की रेस के लिए कई नाम की चर्चा थी। लेकिन नीतीश कुमार के भाजपा से अलग होने के बाद वह भी इस कतार में खड़े हो गए हैं। तमाम बड़े नेता लगातार नए-नए दावे और वादे कर रहे हैं जिसका राष्ट्रीय राजनीति पर बड़ा असर पड़ सकता है। 

इसे भी पढ़ें: PM मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से 100 किलोमीटर दूर, UP की इस सीट से चुनाव लड़ सकते हैं नीतीश कुमार, कभी नेहरू ने लगाई थी जीत की हैट्रिक

नीतीश का बयान

भले ही नीतीश कुमार खुलकर प्रधानमंत्री पद की अपनी इच्छा पर कुछ ना बोल रहे हो। लेकिन कहीं न कहीं उनकी पार्टी लगातार उन्हें प्रधानमंत्री मटेरियल बता रही हैं। बिहार की राजधानी पटना में कई जगह एक पोस्टर लगे थे। इन पोस्टरों में नीतीश कुमार के फोटो थी और लिखा था प्रदेश ने देखा, देश भी देखेगा। इसका मतलब साफ है कि जदयू नीतीश कुमार को राष्ट्रीय स्तर पर आगे बढ़ा रही है। लेकिन नीतीश कुमार से इसको लेकर कई बार सवाल पूछा गया। नीतीश कुमार ने साफ तौर पर इससे इनकार कर दिया। लेकिन हाल में ही नीतीश कुमार ने कुछ ऐसा बयान दिया था जिससे साफ तौर पर जाहिर हुआ कि वह प्रधानमंत्री बनने को इच्छुक हैं। उन्होंने कहा कि अगर केंद्र में उनके सरकार बनेगी तो वह सभी जरूरतमंद राज्यों को विशेष राज्य का दर्जा देंगे। 

इसे भी पढ़ें: नीतीश के बयान पर भाजपा का पलटवार, तारकिशोर प्रसाद बोले- दिन में सपने देख रहे बिहार के CM

केजरीवाल का बयान

विपक्षी एकता से भले ही अरविंद केजरीवाल खुद को दूर दिखा रहे हो। लेकिन कहीं ना कहीं उनके मन में भी प्रधानमंत्री पद को लेकर इच्छाएं प्रबल होती दिख रही हैं। अरविंद केजरीवाल सीधे तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से चुनौती देते दिखाई दे रहे हैं। आम आदमी पार्टी के कई नेता तो यह भी दावा कर रहे हैं कि लोकसभा चुनाव केजरीवाल और मोदी के बीच होगा। इन सब के बीच आज केजरीवाल ने गुजरात को कुछ ऐसा बयान दे दिया जिससे जाहिर होता है कि उनके मन में भी प्रधानमंत्री बनने का सपना काफी उबाल मार रहा है। उन्होंने साफ तौर पर कहा है कि जिंदगी में हमारी कभी केंद्र में सरकार बनी तो हम दोषियों को जेल भेजेंगे। 

इसे भी पढ़ें: प्रशांत किशोर को फिर साथ लाने की कोशिश में जुटे नीतीश! पवन वर्मा से मुलाकात के बाद अटकलों का दौर जारी

केसीआर का ऐलान

राष्ट्रीय राजनीति में आने का सपना देखने वाले तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव भी प्रधानमंत्री पद को लेकर अपनी दावेदारी पेश करने में जुटे हुए हैं। हाल में ही के चंद्रशेखर राव बिहार पहुंचे थे जहां वह विपक्षी एकजुटता के बाद तो करते दिखे। लेकिन नीतीश के चेहरे को लेकर कुछ कहने से इनकार कर दिया। हैदराबाद लौटने के साथ ही उन्होंने एक बड़ा ऐलान कर दिया। केसीआर ने साफ तौर पर कहा कि अगर 2024 के लोकसभा चुनाव में गैर-भाजपा सरकार सत्ता में आती है तो देश भर के किसानों को मुफ्त बिजली-पानी की आपूर्ति की जाएगी। 

अन्य न्यूज़