• यह दीपिका ही सोचें कि JNU में उनकी उपस्थिति क्या संदेश देगी: गिरिराज सिंह

वह सोमवार को यहां पं. दीनदयाल उपाध्याय पशुचिकित्सा विज्ञान विश्वविद्यालय एवं गौ अनुसंधान संस्थान में राष्ट्रीय कृषि योजना के अंतर्गत आयोजित ‘बकरियों में कृत्रिम गर्भाधान के माध्यम से उत्पादकता वृद्धि, संभावनाएं, चुनौतियां एवं रणनीति’ विषयक दो दिवसीय कार्याशाला का उद्घाटन करने पहुंचे थे।

मथुरा। केंद्रीय पशुपालन, मत्स्य एवं दुग्ध विकास मंत्री गिरिराज सिंह ने अदाकारा दीपिका पदुकोण के जेएनयू जाने के मुद्दे पर कहा कि दीपिका हों या फिर कोई और हस्ती, यह उन्हें ही सोचना होगा कि जिस स्थान पर लोग राष्ट्र विरोधी रवैया अपना रहे हों, या फिर पाकिस्तान की बोली बोल रहे हों, वहां उनकी उपस्थिति देश को क्या संदेश देगी। 

वह सोमवार को यहां पं. दीनदयाल उपाध्याय पशुचिकित्सा विज्ञान विश्वविद्यालय एवं गौ अनुसंधान संस्थान में राष्ट्रीय कृषि योजना के अंतर्गत आयोजित ‘बकरियों में कृत्रिम गर्भाधान के माध्यम से उत्पादकता वृद्धि, संभावनाएं, चुनौतियां एवं रणनीति’ विषयक दो दिवसीय कार्याशाला का उद्घाटन करने पहुंचे थे। उल्लेखनीय है कि दीपिका पिछले सप्ताह दिल्ली स्थित जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय पहुंची थीं और वह कुछ देर प्रदर्शनकारी छात्रों के साथ रही थीं।

इसे भी पढ़ें: पुलेला गोपीचंद का आरोप, पादुकोण के उकसावे पर साइना नेहवाल ने छोड़ी एकेडमी

सिंह ने इस संबंध में संवाददाताओं के सवाल के जवाब में कहा, ‘‘उनके (सेलेब्रिटीज) लिए अब यह सोचने का समय आ गया है कि जब पूरा देश ‘एक देश-एक विधान’ कह रहा हो, तो तब जिस जेएनयू में आतंकवादियों की बरसी मनाई गई हो, वहां किसी भी सेलेब्रिटी को जाना चाहिए या नहीं।’’ उन्होंने कहा कि अगर आप ‘सेलेब्रिटी’ हैं तो आपको ही सोचना होगा कि वहां आपकी उपस्थिति देश को क्या दिशा देने का काम करेगी। फिर चाहे वह दीपिका हों, अथवा कोई और हस्ती।