नेपाल में तीसरे भारतीय पर्वतारोही की भी मौत, नीचे उतरते हुए निकला दम

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: May 17 2019 5:04PM
नेपाल में तीसरे भारतीय पर्वतारोही की भी मौत, नीचे उतरते हुए निकला दम
Image Source: Google

ऊंचाई से संबंधित व्याधियों के कारण पश्चिम बंगाल से दो भारतीय पर्वतारोही बिप्लब वैद्य (48) और कुंतल करार (46) की कंचनजंघा शिखर पर्वत के पास बुधवार को नेपाल में मौत हो गयी। कंचनजंघा शिखर पर्वत दुनिया की तीसरी सबसे ऊंची चोटी है।

काठमांडू। नेपाल स्थित दुनिया के पांचवें सर्वोच्च पर्वत शिखर पर चढ़ायी के अभियान के दौरान मकालू पर्वत शिखर से नीचे उतरते समय एक भारतीय पर्वतारोही की मौत हो गयी। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। कुछ दिन पहले ही देश के दो पर्वतारोहियों की हिमालयी देश में मौत हो गयी थी। नेपाल पर्यटन मंत्रालय की अधिकारी मीरा आचार्य ने बताया कि 8,485 मीटर ऊंचे शिखर से नीचे उतरने के दौरान नारायण सिंह की बृहस्पतिवार रात ‘कैम्प 4’ में मौत हो गयी।
भाजपा को जिताए

आचार्य ने ‘पीटीआई’ को बताया, ‘‘भारतीय पर्वतारोही नारायण सिंह कीशिखर से नीचे उतरते समय ‘कैम्प 4’ में मौत हुई।’’ यह कैंप मकालू पर्वत पर स्थित है। ऊंचाई से संबंधित व्याधियों के कारण पश्चिम बंगाल से दो भारतीय पर्वतारोही बिप्लब वैद्य (48) और कुंतल करार (46) की कंचनजंघा शिखर पर्वत के पास बुधवार को नेपाल में मौत हो गयी। कंचनजंघा शिखर पर्वत दुनिया की तीसरी सबसे ऊंची चोटी है।
बुधवार शाम से ही चिली का एक पर्वतारोही भी कंचनजंघा पर्वत के ‘कैम्प-4’ से लापता है। मकालू दुनिया का पांचवां सबसे ऊंची चोटी वाला पर्वत है। यह एवरेस्ट पर्वत के 19 किलोमीटर दक्षिणपूर्व महालंगूर हिमालय पर्वतमाला में नेपाल और चीन के तिब्बत स्वायत्त क्षेत्र के बीच सीमा पर स्थित है। मार्च से जून के अंत तक सैकड़ों पर्वतारोही दुनिया के सबसे ऊंचे पर्वत हिमालय की चोटी पर चढ़ाई के लिये नेपाल आते हैं।


रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story