MP में बच्चों के लिए खतरा बन रही है तीसरी लहर, 11 दिनों में 1700 से ज्यादा बच्चें हुए संक्रमित

MP में बच्चों के लिए खतरा बन रही है तीसरी लहर, 11 दिनों में 1700 से ज्यादा बच्चें हुए संक्रमित

पिछले 11 दिनों जो पॉजिटिव मरीज मिले है, इसमें में बड़ी संख्या में बच्चे भी शामिल हैं। आंकड़ों के अनुसार जन्म से लेकर 18 साल तक के करीब 1700 से ज्यादा बच्चे पॉजिटिव हुए हैं। इनमें अधिकतर बच्चे पॉजिटिव इंदौर, भोपाल, ग्वालियर और जबलपुर मे हुए हैं।

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना जानलेवा साबित होने लगा है। पिछले 24 घंटे में 3 कोरोना मरीजों की मौत हुई है। इसमें से जबलपुर और ग्वालियर समेत सागर में कोरोना मरीजों की मौत हुई है। प्रदेश में पिछले 11 दिनों मिले पॉजिटिव मरीज में बड़ी संख्या में बच्चे भी शामिल है। 18 साल तक के करीब 1700 से ज्यादा बच्चे पॉजिटिव हुए हैं।

वहीं पिछले 24 घंटे में 4031 कोरोना मरीज मिले है। प्रदेश मप्रदेश में एक्टिव केस की संख्या 17,659 पहुंच गई है। बुधवार को मिले कुल मरीजों से 2802 लोग कोरोना वैक्सीन के दोनों डोज लगवा चुके हैं।

इसे भी पढ़ें:ओमीक्रोन को हल्के में लेने की गलती नहीं करें और कोविड दवाओं के दुरुपयोग से बचेंः सरकार 

भोपाल, इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर में कोरोना आउट ऑफ कंट्रोल हो गया है। इन चारों शहरों में पिछले 24 घंटे में कुल मिलकार 2828 कोरोना मरीज मिले हैं। भोपाल में बुधवार को पॉजिटिव आए 863 नए कोरोना मरीज मिले। इनमें 47 बच्चे भी शामिल है। वहीं इंदौर में बुधवार को 1104 नए केस सामने आए।

आपको बता दें कि प्रदेश में पिछले 11 दिनों जो पॉजिटिव मरीज मिले है, इसमें में बड़ी संख्या में बच्चे भी शामिल हैं। आंकड़ों के अनुसार जन्म से लेकर 18 साल तक के करीब 1700 से ज्यादा बच्चे पॉजिटिव हुए हैं। इनमें अधिकतर बच्चे पॉजिटिव इंदौर, भोपाल, ग्वालियर और जबलपुर मे हुए हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।