ममता बनर्जी का नया फरमान, रहना है बंगाल में तो बोलनी पड़ेगी बांग्ला

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jun 14 2019 4:57PM
ममता बनर्जी का नया फरमान, रहना है बंगाल में तो बोलनी पड़ेगी बांग्ला
Image Source: Google

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि बाहरी लोग डॉक्टरों को उकसा रहे हैं। मैंने सही कहा था कि वे कल के प्रदर्शन में शामिल थे।

कांचरापाड़ा। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शुक्रवार को कहा कि पश्चिम बंगाल में रहने वालों को बांग्ला भाषा में बोलना सीखना होगा। तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ने दोहराया कि बाहरी लोग राज्य में डॉक्टरों के आंदोलन को उकसा रहे हैं। ममता ने भाजपा पर बंगालियों और अल्पसंख्यकों को निशाना बनाने का आरोप लगाया। उन्होंने एक रैली को संबोधित करते हुए कहा, ‘बाहरी लोग डॉक्टरों को उकसा रहे हैं। मैंने सही कहा था कि वे कल के प्रदर्शन में शामिल थे। मैंने (एसएसकेएम अस्पताल में) कुछ बाहरियों को नारेबाजी करते हुए देखा।’

इसे भी पढ़ें: भाजपा ने लोकसभा चुनाव से पहले EVM में छेड़छाड़ की थी: ममता बनर्जी

ममता ने आरोप लगाया कि हाल में हुए लोकसभा चुनावों में ईवीएम में ‘‘गड़बड़ी’’ की गई थी। उन्होंने कहा कि चुनाव कराने के लिए मतपत्रों का इस्तेमाल होना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘सिर्फ इसलिए कि वे (भाजपा) ईवीएम में गड़बड़ी करके कुछ सीटें जीत गये, इसका मतलब यह नहीं कि वे बंगालियों और अल्पसंख्यकों को पीट सकते हैं। हम इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे।’ उन्होंने कहा कि पुलिस हंगामा करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करेगी। अगर कोई बंगाल में रह रहा है तो उसे बांग्ला (भाषा) सीखनी पड़ेगी।



रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video