अल्पसंख्यक कट्टरता पर टीएमसी-AIMIM आमने-सामने, ममता ने किया सावधान, ओवैसी बोले थैंक्यू

अल्पसंख्यक कट्टरता पर टीएमसी-AIMIM आमने-सामने, ममता ने किया सावधान, ओवैसी बोले थैंक्यू

ममता ने कूच बिहार में ओवैसी या उनकी पार्टी का नाम लिए बिना लोगों को सावधान करते हुए कहा था, ''मैं देख रही हूं कि अल्पसंख्यकों के बीच कई कट्टरपंथी हैं। इनका ठिकाना हैदराबाद में है। आप लोग इन पर ध्यान मत दें।''ओवैसी कहां चुप रहने वाले थे। एआईएमआईएम नेता ने पलटवार करते हुए ममता के शासन पर ही सवाल उठा दिए।

पश्चिम बंगाल में 2021 में विधानसभा चुनाव होने है, लेकिन उससे पहले ही यहां सूबे के बड़े वोटर वर्ग को लेकर सियासत जारी हो गई है। भारतीय जनता पार्टी पर हमलावर रहने वाली ममता बनर्जी के निशाने पर इस बार ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (एआईएमआईएम) नेता असदुद्दीन ओवैसी हैं। तृणमूल सुप्रीमो ने इशारों-इशारों में ओवैसी को आड़े हाथों लिया है। ममता ने कूच बिहार में ओवैसी या उनकी पार्टी का नाम लिए बिना लोगों को सावधान करते हुए कहा था, 'मैं देख रही हूं कि अल्पसंख्यकों के बीच कई कट्टरपंथी हैं। इनका ठिकाना हैदराबाद में है। आप लोग इन पर ध्यान मत दें।'

ममता ने सवाल उठाया तो ओवैसी कहां चुप रहने वाले थे। एआईएमआईएम नेता ने पलटवार करते हुए ममता के शासन पर ही सवाल उठा दिए। ओवैसी ने पूछा कि बंगाल में बीजेपी 18 लोकसभा सीट कैसे जीत गई? उन्होंने ट्वीट कर कहा कि बंगाल में मुसलमानों को मूलभूत मानवीय सुविधाएं मयस्सर नहीं होने पर सवाल उठाना धार्मिक कट्टरता नहीं है। असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि ममता बनर्जी की जुबान पर मेरा नाम आया, इसके लिए मैं थैंक्यू कहना चाहूंगा। ओवैसी ने कहा कि हर कोई आज मुझे टारगेट कर रहा है, घर में मुर्गी अंडा ना दे तो हम जिम्मेदार, भैंस दूध ना दे तो भी ओवैसी जिम्मेदार।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...