टीएमसी ने अमित शाह के प्रस्तावित पश्चिम बंगाल दौरे पर तंज कसा, भाजपा ने पलटवार किया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 30, 2022   09:39
टीएमसी ने अमित शाह के प्रस्तावित पश्चिम बंगाल दौरे पर तंज कसा, भाजपा ने पलटवार किया
prabhasakshi

तृणमूल कांग्रेस के प्रवक्ता कुणाल घोष ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के पश्चिम बंगाल के अगले सप्ताह संभावित दौरे पर शुक्रवार को चुटकी लेते हुए कहा कि वह गुटबाजी से जूझ रही भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश ईकाई से मुलाकात करेंगे। विधानसभा चुनावों के बाद यह शाह का राज्य का पहला दौरा होगा।

कोलकाता। तृणमूल कांग्रेस के प्रवक्ता कुणाल घोष ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के पश्चिम बंगाल के अगले सप्ताह संभावित दौरे पर शुक्रवार को चुटकी लेते हुए कहा कि वह गुटबाजी से जूझ रही भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश ईकाई से मुलाकात करेंगे। विधानसभा चुनावों के बाद यह शाह का राज्य का पहला दौरा होगा। भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता शमिक भट्टाचार्य ने पलटवार करते हुए कहा कि टीएमसी को पहले अपना घर ठीक करना चाहिए और फिर अन्य राजनीतिक दलों पर टिप्पणी करनी चाहिए। घोष ने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सुकांत मजूमदार की यह कहने के लिए निंदा की कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी राज्य के लिए आर्थिक मदद मांगने नयी दिल्ली गयी थीं।

इसे भी पढ़ें: जो बाइडन और मैक्सिको के राष्ट्रपति के बीच प्रवास के मुद्दे पर चर्चा, ये हैं बातचीत के मुख्य बिंदु

घोष ने कहा कि संघीय व्यवस्था में प्रत्येक मुख्यमंत्री के पास अपनी मांगें रखने का अधिकार है। शाह के प्रस्तावित दौरे पर निशाना साधते हुए पश्चिम बंगाल में टीएमसी के महासचिव घोष ने पत्रकारों से कहा, ‘‘यह 2021 के विधानसभा चुनावों में भाजपा के 200 से अधिक सीटें लाने का सपना चकनाचूर होने के बाद अमित शाह जी का राज्य का पहला दौरा होगा। लेकिन उन्हें एक कठिन काम करना है क्योंकि वह गुटबाजी से जूझ रहे भगवा खेमे से मुलाकात करेंगे, जिसमें पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सुकांत मजूमदार अपने पूर्ववर्ती दिलीप घोष के खिलाफ हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।