Nitish Kumar के काफिले के लिए रोकी गई दो यात्री ट्रेन! भाजपा ने उठाए सवाल तो CM बोले- हमको नहीं पता

nitish kumar
ANI
अंकित सिंह । Jan 19, 2023 2:16PM
अपने बयान में केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने कहा कि दो पैसेंजर ट्रेन को रोक दिया गया। यह व्यवधान नहीं तो समाधान है? इसकी उच्चस्तरीय जांच करवाएंगे कि किसके आदेश पर ट्रेन रुकी रही? उन्होंने दावा किया कि बच्चे, बूढ़े सभी लोग परेशान थे। वह पिकनिक यात्रा पर आए हैं, समाधान यात्रा पर नहीं।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इन दिनों समाधान यात्रा निकाल रहे हैं। अपनी इस यात्रा के दौरान वे विभिन्न जिलों का दौरा कर रहे हैं। हाल में ही अपनी समाधान यात्रा के तहत नीतीश कुमार बक्सर पहुंचे थे। हालांकि, नीतीश कुमार के दौरे को लेकर अब भाजपा ने बड़ा सवाल उठाया है। दरअसल, बताया जा रहा है कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काफिले को आगे जाने देने के लिए 2 यात्री ट्रेनों को रोका गया था। अब इसी को भाजपा ने बड़ा मुद्दा बना लिया है। केंद्रीय मंत्री और बक्सर से सांसद अश्विनी चौबे ने साफ तौर पर इस मुद्दे को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि यह व्यवहार नहीं है तो क्या समाधान है। 

इसे भी पढ़ें: बिहार को विशेष दर्जा नहीं मिलने पर नीतीश ने Prime Minister Modi पर परोक्ष रूप से निशाना साधा

अपने बयान में केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने कहा कि दो पैसेंजर ट्रेन को रोक दिया गया। यह व्यवधान नहीं तो समाधान है? इसकी उच्चस्तरीय जांच करवाएंगे कि किसके आदेश पर ट्रेन रुकी रही? उन्होंने दावा किया कि बच्चे, बूढ़े सभी लोग परेशान थे। वह पिकनिक यात्रा पर आए हैं, समाधान यात्रा पर नहीं। वह समस्या पैदा करने के लिए आए थे। वहीं दूसरी ओर इस मुद्दे को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से भी सवाल पूछा गया। नीतीश कुमार ने कहा कि कहां, किसको रोका गया? कौन सी ट्रेन रोकी गई, हमको नहीं पता। हमें पहली बार (मीडिया से) जानकारी मिल रही है। दरअसल, नीतीश कुमार की समाधान यात्रा फिलहाल आरा में है। 

इसे भी पढ़ें: CM Nitish पर लगातार हमलावर हैं पूर्व मंत्री सुधाकर सिंह, अब आरजेडी की ओर से भेजा गया कारण बताओ नोटिस

इस मामले पर एक यात्री ने बताया कि हमारी गाड़ी (ट्रेन) रोक दी है इसलिए हम पैदल आ रहे हैं। हमें दिलदार नगर जाना है। आगे जाकर दूसरी गाड़ी पकड़नी पड़ेगी। नीतीश कुमार ने बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने से केंद्र के इनकार पर नाराजगी जताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर परोक्ष रूप से निशाना साधा। मुख्यमंत्री नीतीश ने कहा कि पहले कई पिछड़े राज्यों को विशेष राज्य का दर्जा दिया गया वैसे ही अब भी देना चाहिए। सभी पिछड़े राज्य विकसित हो जायेंगे तो देश विकसित हो जायेगा। नीतीश ने कहा कि अगर बिहार को विशेष राज्य का दर्जा मिल जाता तो इसका काफी विकास हो जाता। उन्होंने कहा कि अभी कई काम बिहार सरकार को खुद करना पड़ता है, लेकिन विशेष राज्य का दर्जा मिल जाता तो बिहार की तरक्की कल्पना से परे होती। 

अन्य न्यूज़