गुरुग्राम: ससुर के सिर पर हैवान था सवार, बहू समेत 4 को गंडासे से काटा फिर पहुंचा पुलिस थाने

 Two rounds of hacking on night of Gurugram slaughter
निधि अविनाश । Aug 26, 2021 5:27PM
TOI में छपी एक खबर के मुताबिक, यह वीडियो तब सामने आई है जब आरोपी ने अपने ही घर के 4 लोगों को मौत के घाट उतार दिया और बाद में सरेंडर करने के लिए हाथ में गंडासा लिए थाने पहुंच रहा है।

गुरुग्राम के राजेंद्र पार्क इलाके में एक मर्डर केस का सनसनीखेज सीसीटीवी वीडियो सामने आया है जिसमें आरोपी हत्या करके हाथ में एक गंडासा लिए सड़क पर घूम रहा है। यह आरोपी एक रिटायर्ड फौजी है और इसका नाम राव राय सिंह है। TOI में छपी एक खबर के मुताबिक, यह वीडियो तब सामने आई है जब आरोपी ने अपने ही घर के 4 लोगों को मौत के घाट उतार दिया और बाद में सरेंडर करने के लिए हाथ में गंडासा लिए थाने पहुंच रहा है। इस वीडियो में शख्स बिल्कुल भी डरा हुआ नहीं है और बहुत ही आराम से चलता हुआ नजर आ रहा है। 

क्या है पूरा मामला?

बता दें कि गुरुग्राम के राजेंद्र पार्क इलाके के मकान नंबर A-80 में मंगलवार की रात 4 लोगों की हत्या करने वाला प्रमुख आरोपी राव राय सिंह ने पुलिस को बताया कि, रात करीब ढाई बजे आरोपी ने सबसे पहले अपनी बहू सुनीता और उसके किराएदार की पत्नी अनामिका की हत्या की और 4 घंटे तक दोनों तड़पती रही लेकिन जब दोनों की मौत नहीं हुई तो आरोपी ने दोनों की गर्दन गंडासे से काट डाली जिससे दोनों की मौके पर ही मौत हो गई। आपको बता दें कि आरोपी ने पहले ही अनामिका के पति और बेटी की हत्या कर दी थी। लोगों की एक के बाद एक मौत के घाट उतारने वाले सिंह इस हैवनियत में अकेले नहीं थे बल्कि उनकी पत्नी बिमलेश अपनी आखों के सामने यह सब होते देख रही थी। पुलिस ने पति और पत्नी दोनों को अरेस्ट कर लिया है। पत्नी बिमलेश को पुलिस हिरासत में रखा गया है वहीं सिंह को दो दिनों की पुलिस रिमांड पर रखा गया है। 

इसे भी पढ़ें: गुरुग्राम में 4 हत्याओं से फैली सनसनी, लोगों में दहशत

कई दिनों से कर रहा था हत्या की प्लानिंग!

पुलिस के मुताबिक, यह हत्या आवेश में आकर नहीं की गई है बल्कि पूरी प्लानिंग के साथ शुरू किया गया था। हत्या में इस्तेमाल होने वाले हथियार को भी काफी दिनों से धार किया गया था। पुलिस को दिए बयान में सिंह ने बताया कि, उसकी बहु का किराएदार कृष्‍ण तिवारी के साथ अफेयर चल रहा था और दोनों को आपत्तिजनक स्थितियों में देखा गया था। हालांकि तिवारी परिवार का दावा है कि, किराएदार कृष्‍ण 4 महीने पहले ही सिंह के घर में रहने आए थे और सुनीता के परिवारवालों ने आरोप लगया गया कि, हत्या की असली वजह को छुपाया जा रहा है। वहीं सुनीता के भाई का कहना है कि, सिंह की एक करोड़ की प्‍लॉट पर काफी दिनों से नजर थी।पुलिस ने बताया कि, सिंह का बेटा आनंद अपने दोस्त के साथ शाम 6 बजे राजस्थान निकल गया था और उसकी पत्नी सुनीता और बेटी घर पर ही थे। रात को करीब दो बजे सिंह ने सुनीता के बेडरूम को खटखटाया और जैसे ही दरवाजा खुला सिंह ने गंडासे से वार करना शुरू कर दिया। जब सुनीता खून से पूरी तरह लथपथ हो गई तब सांस और ससुर ने किराएदार के कमरे पर दस्तक दी। सिंह ने किराएदार का मेन दरावाजा तोड़ा और घर के अंदर घुस गया और कृष्‍ण पर हमला करने लग गया। अपने आपको बचाने के लिए जब कृष्‍ण भागने लगा तो सिंह ने उसे घसीटा और उसपर कई हमले किए और उसे मौत के घाट उतार दिया।कृष्‍ण की पत्नी अनामिका ने अपनी जिंदगी की भीख मांगी लेकिन सिंह ने उसपर भी वार किया और साथ ही दोनों बेटियों पर भी हमला किया।

इसे भी पढ़ें: गुरुग्राम में अवैध संबंध के शक में व्यक्ति ने बहू समेत 4 लोगों को उतारा मौत के घाट

बेटे को किया फोन

रात ढाई बजे सिंह ने अपने बेटे को फोन किया और हत्यारों के बारे में बताया। कपड़े बदलकर खून से सने हाथों को धोया और फिर रोजाना की तरह अपने कामों में लग गए। जब वह वापस आए और पाया की बहू सुनीता और किराएदार की पत्नी अनामिका जिंदा है तो सिंह ने दोनों का सीधा गला ही रेत दिया।इसके बाद वह एक हाथ मे गंडासे लिए पुलिस थाने की ओर निकल गए। एसीपी राजीव कुमार के अनुसार, सिंह को अपने करतूत पर कोई पछतावा नहीं है और वह अपनी सजा भुगतने के लिए बिल्कुल तैयार है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़