केंद्रीय मंत्री सिंधिया ने स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी की भगवान श्री राम से की तुलना, कांग्रेस ने दर्ज किया अपना विरोध

केंद्रीय मंत्री सिंधिया ने स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी की भगवान श्री राम से की तुलना, कांग्रेस ने दर्ज किया अपना विरोध

उन्होंने कहा कि प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री का नाम प्रभु और राम है। यह प्रभुराम हैं। और यही कारण है कि इनकी कृपा और लीला के कारण 6 करोड़ के बजट की मांग की जगह जनता को 20 करोड़ की मंजूरी प्रभु राम ने खुद दी है।

भोपाल। मध्य प्रदेश में श्री राम को लेकर राजनीति एक बार फिर जोरों पर है। इसी कड़ी में ग्वालियर पहुंचे केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया राम नवमी के दिन मध्य प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी की तुलना प्रभु राम से ही कर दी।

इसे भी पढ़ें:'महाराजा' के जाने के बाद सिंधिया के पास सिर्फ नाम का रह गया राज-पाट? जानें सिविल एविएशन मिनिस्ट्री क्या-क्या काम करती है 

केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया जिला अस्पताल के ऑक्सीजन प्लांट के लोकार्पण कार्यक्रम में लोगों को संबोधित कर रहे थे। जहां उन्होंने कहा कि प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री का नाम प्रभु और राम है। यह प्रभुराम हैं। और यही कारण है कि इनकी कृपा और लीला के कारण 6 करोड़ के बजट की मांग की जगह जनता को 20 करोड़ की मंजूरी प्रभु राम ने खुद दी है।

वहीं इस बयान पर कांग्रेस विधायक सतीश शिकरवार ने विरोध दर्ज किया और कहा कि प्रभु श्री राम पर किसी भी बीजेपी नेता की ठेकेदारी नहीं है। भगवान श्रीराम से किसी की तुलना नहीं हो सकती।

इसे भी पढ़ें:पद की लालसा किये बगैर सदैव देशसेवा में लगी रहीं राजमाता विजयाराजे सिंधिया 

उन्होंने कहा कि भगवान राम और कहां ये मंत्री जी। यदि प्रभु राम चौधरी जी जनता के लिए काम करेंगे तो उनकी तारीफ जरूर होगी, लेकिन उनकी प्रभु राम से तुलना करना यह ठीक नहीं है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...