बाराबंकी में सरकारी अस्पताल में डेढ़ वर्षीय बच्‍ची की मौत के बाद हंगामा, जांच समिति गठित

death
Pixabay free license
बाराबंकी जिले के सिरौली गौसपुर स्थित सौ शैय्या वाले सरकारी अस्पताल में डेढ़ वर्षीय एक बच्ची की चिकित्सक की कथित लापरवाही से मौत होने के बाद परिजनों ने ग्रामीणों के साथ हंगामा किया। चिकित्सक द्वारा बच्ची के परिजनों से अभद्रता का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर प्रसारित हो रहा है।

बाराबंकी (उप्र)। बाराबंकी जिले के सिरौली गौसपुर स्थित सौ शैय्या वाले सरकारी अस्पताल में डेढ़ वर्षीय एक बच्ची की चिकित्सक की कथित लापरवाही से मौत होने के बाद परिजनों ने ग्रामीणों के साथ हंगामा किया। चिकित्सक द्वारा बच्ची के परिजनों से अभद्रता का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर प्रसारित हो रहा है। घटना से जुड़ा वीडियो सामने आने और परिजनों की शिकायत के बाद मुख्‍य चिकित्‍सा अधिकारी (सीएमओ) ने एक समिति गठित कर जांच कराने के निर्देश दिए हैं। वहीं सिरौली गौसपुर अस्पताल की मुख्‍य चिकित्‍सा अधीक्षक (सीएमएस) ने आरोपी डॉक्टर को ड्यूटी से हटाकर तीन डॉक्टरों की टीम बनाकर आरोपों की जांच शुरू करा दी है।

इसे भी पढ़ें: राम की जन्मभूमि अयोध्या में किया जाएगा मच अवेटेड फिल्म Adipurush का ग्रैंड पोस्टर और टीजर लॉन्च

परिजनों ने बताया कि सिरौली गौसपुर के 100 शैय्या अस्पताल में कमोली गांव निवासी विजय रावत अपनी डेढ़ वर्ष की भतीजी परी को लेकर रविवार की रात पहुंचे थे। बच्‍ची के गले में मक्के का दाना अटक गया था। परिजनों का दावा है कि अस्पताल में रात्रिकालीन प्रभारी डाक्टर धर्मेंद्र गुप्ता मौजूद नहीं थे और एक घंटे बाद नशे की हालत में वह पहुंचे। परिजनों का आरोप है कि गुप्ता ने पीड़ित बच्‍ची की मां से अभद्रता की और कहा कि दूसरी बेटी पैदा कर लो। चिकित्सक द्वारा बच्ची के परिजनों से अभद्रता का यह वीडियो सोशल मीडिया पर प्रसारित हो रहा है। परिजनों ने आरोप लगाया कि उपचार न मिलने की वजह से बच्‍ची की मौत हो गयी।

इसे भी पढ़ें: भाजपा-कांग्रेस गठजोड़ की खुल गई पोल, भगवंत मान बोले- सदन में हमें बोलने नहीं दे रहे

बच्‍ची की मौत के बाद परिजनों ने ग्रामीणों को सूचना दी और कुछ देर में ग्रामीणों ने वहां पहुंचते ही हंगामा शुरू कर दिया। जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। इस सम्बन्ध में सिरौली गौसपुर की सीएमएस डॉ. नीलम गुप्ता ने बताया कि आरोपी डाक्टर को ड्यूटी से हटाकर तीन डॉक्टरों की टीम बनाकर आरोपों की जांच कराई जा रही है। उन्होंने कहा कि दोषी पाए जाने पर कठोर कार्रवाई की जाएगी। मुख्य चिकित्साधिकारी अवधेश कुमार यादव ने मंगलवार को बताया कि वीडियो तहसील सिरौली गौसपुर में तैनात डॉक्टर धर्मेंद्र गुप्ता का है। पीड़ित परिजनों की शिकायत पर डॉक्टर द्वारा असभ्य के इस्तेमाल व लापरवाही बरतने के आरोप पर एक समिति बनाकर जांच कराई जा रही है। जांच में दोषी पाए जाने पर सख्त करवाई की जायेगी। थाना बदोसराय प्रभारी अमित मिश्रा ने बताया कि मामला उनके संज्ञान में है, लेकिन मामले की कोई तहरीर प्राप्त नहीं हुई है। घटना की जांच पड़ताल विभागीय स्तर पर की जा रही है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़