उत्तराखंड में किसकी पार्टी लहराएगी परचम? एक झलक पिछली सरकारों की रिपोर्ट कार्ड पर

उत्तराखंड में किसकी पार्टी लहराएगी परचम? एक झलक पिछली सरकारों की रिपोर्ट कार्ड पर

70 सदस्यीय विधानसभा सीट के लिए इस बार एक ही चरण में वोटिंग होगी, जबकि इससे पहले दो चरण में वोटिंग होती थी। चुनाव आयोग की मानें तो उत्तराखंड में एक ही चरण में सभी 70 सीटों पर 14 फरवरी को मतदान होगा।10 मार्च को एक साथ सभी राज्यों के साथ उत्तराखंड चुनाव के परिणाम सामने आएंगे।

उत्तराखंड में भाजपा की सत्ता वापिस आएगी या कांग्रेस पार्टी अपना कब्जा जमाएगी यह तो 10 मार्च को ही पता चलेगा। बता दें कि, उत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2022 एक ही चरण में आयोजित किया जाएगा। 70 सदस्यीय विधानसभा सीट के लिए इस बार एक ही चरण में वोटिंग होगी, जबकि इससे पहले दो चरण में वोटिंग होती थी। चुनाव आयोग की मानें तो उत्तराखंड में एक ही चरण में सभी 70 सीटों पर 14 फरवरी को मतदान होगा।10 मार्च को एक साथ सभी राज्यों के साथ उत्तराखंड चुनाव के परिणाम सामने आएंगे।

इसे भी पढ़ें: उत्तराखंड ने हासिल किए कई मुकाम, सरकार की सफलता पर डालिए एक नजर

भाजपा सरकार की उपलब्धियां

-केंद्र से मिली राशि से चारधाम के सुगम यात्रा हेतु आलवेदर सड़क का निर्माण, केदारनाथ पुनर्निमाण, ऋषिकेश- कर्णप्रयाग रेल लाइन निर्माण कार्य किया गया।

-बेरोजगारों को रोजगार देने के लिये विभागों में रिक्त पड़े पदों पर नियुक्ति प्रक्रिया शुरू की है। दसवी और 12 वीं के छात्रों को मुफ्त टेबलेट हेतु 12 हजार की धनराशि दी जा रही है। 

-2018 में आयोजित इंवेस्टर समिट भी त्रिवेंद्र सरकार की बड़ी उपलब्धि रही। इसमें देश भर के कारोबारियों ने 124 लाख करोड़ के 601 एमओयू साइन किए।

-राज्य के हर नागरिक को 5 लाख रुपये तक का इलाज मुफ़्त उपलब्ध करने के लिए अटल आयुष्मान योजना की शुरुआत की गई।

-उड़ान योजना के तहत पंतनगर और पिथौरागढ़ को हवाई नक्शे से जोड़ा गया।

-सरकार ने देहरादून में रिस्पना और अल्मोड़ा में कोसी नदी को को पुनर्जीवित करने का अभियान शुरु किया।

-किसानों को दो फ़ीसदी ब्याज पर एक लाख तक का लोन देना शुरु किया गया।

-जब जल जीवन मिशन योजना लॉन्च हुई थी, तब उत्तराखंड में 8 प्रतिशत घरों में पानी के कनेक्शन थे अब उत्तराखंड में 47 प्रतिशत पानी के कनेक्शन उत्तराखंड में हैं। 

-सरकार ने मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना प्रारंभ कर युवाओं को घर के समीप स्वरोजगार शुरू करने के लिए ऋण दिया।

-आयुष्मान कार्ड से गंभीर बीमारियों का इलाज मुफ्त हुआ  

कांग्रेस सरकार की उपलब्धियां

-पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार ने क्षेत्र में सड़क से जोड़ा।

-पेयजल समस्या के समाधान को पंपिंग योजना बनाई।

-कालेज, आईटीआई, पालीटेक्निक, इंदिरा आवास सहित अन्य विकास योजनाओं का लाभ जनता तक पहुंचाया।

-शिक्षा के क्षेत्र में मजबूती से काम करने का संकल्प लिया।

 - ईको टूरिज्म को आगे बढ़ाया।

-समाजिक सुरक्षा में भी सरकार ने लीक से हटकर कार्य किया।

-र्वतीय व मैदानी क्षेत्रों में प्रति व्यक्ति आय के बीच बनी दूरी को कम करने के प्रयास किए।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।