उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने बसंत पंचमी की शुभकामनाएं दीं

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 30, 2020   09:44
उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने बसंत पंचमी की शुभकामनाएं दीं

उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने बसंत पंचमी के पर्व की देशवासियों को गुरुवार को शुभकामनायें देते हुए इसे प्रकृति के नवसृजन का उत्सव बताया है। उपराष्ट्रपति कार्यालय द्वारा जारी संदेश में नायडू ने कहा, “वसंत पंचमी के पावन पर्व पर देशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं देता हूं।

नयी दिल्ली। उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने बसंत पंचमी के पर्व की देशवासियों को गुरुवार को शुभकामनायें देते हुए इसे प्रकृति के नवसृजन का उत्सव बताया है। उपराष्ट्रपति कार्यालय द्वारा जारी संदेश में नायडू ने कहा, “वसंत पंचमी के पावन पर्व पर देशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं देता हूं।

इसे भी पढ़ें: राजपथ पर बीटिंग द रिट्रीट में दिखा पारंपरिक धुन पर तीनों सेनाओं का मार्च

यह प्रकृति के नवसृजन का उत्सव है, जब धन धान्य की हरितिमा से समृद्ध प्रकृति उत्तरायण सूर्य की आभा में निखरती है। यह हमारे कृषकों के श्रम और समृद्धि का उत्सव है।” उल्लेखनीय है कि छह ऋतुओं में शीत ऋतु के समापन और ग्रीष्म ऋतु से पहले वसंत ऋतु के आगमन के रूप में भारत के विभिन्न भागों में इस पर्व को अलग अलग रूपों में मनाया जाता है। 

इसे भी पढ़ें: बजट सत्र से पहले लोकसभा अध्यक्ष और राज्यसभा के सभापति राजनीतिक दलों के साथ करेंगे बैठक

उन्होंने इसे ज्ञान का पर्व बताते हुए कहा, “वसंत पंचमी विद्या और ज्ञान का पर्व है। देवी सरस्वती हमारी अंतर्निहित मेधा, प्रतिभा और दिव्यता को जागृत करें। हमें विद्या और विनय का आशीर्वाद दें।” बेटियों को शिक्षा के वरदान की कामना करते हुए नायडू ने कहा, “मां सरस्वती के पूजन के अवसर पर संकल्प लें कि घर की सरस्वती, हमारी बेटियों को विद्या और शिक्षा का वरदान प्राप्त हो।” 

BJP के खिलाड़ियों की टीम का हुआ विस्तार, Saina Nehwal पार्टी में शामिल 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।