कृषि कानूनों पर बोले जयंत चौधरी, किसानों की जीत, देश की जीत है

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 19, 2021   12:39
कृषि कानूनों पर बोले जयंत चौधरी, किसानों की जीत, देश की जीत है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करने के निर्णय की घोषणा की। किसान पिछले वर्ष से दिल्ली की सीमाओं पर इन कानूनों के विरोध में प्रदर्शन कर रहे थे। इस पर रालोद प्रमुख जयंत चौधरी ने ट्वीट किया, ‘‘किसान की जीत, हम सब की है, देश की जीत है!’’

नयी दिल्ली। राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) के प्रमुख जयंत चौधरी ने तीन केंद्रीय कृषि कानूनों को निरस्त करने के सरकार के निर्णय के बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की घोषणा के बाद शुक्रवार को कहा कि किसानों की जीत देश की जीत है। इससे पूर्व आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करने के निर्णय की घोषणा की। किसान पिछले वर्ष से दिल्ली की सीमाओं पर इन कानूनों के विरोध में प्रदर्शन कर रहे थे। चौधरी ने हिंदी में ट्वीट किया, ‘‘किसान की जीत, हम सब की है, देश की जीत है!’’ 

इसे भी पढ़ें: किसानों पर सरकार ने बरसाई थी लाठियां, उन्हें आंदोलनजीवी और देशद्रोही कहा गया: प्रियंका 

रालोद के ट्विटर हैंडल पर कहा गया, ‘‘यह जीत किसानों के संघर्ष, तप और बलिदान की जीत है। देश के किसानों को बधाई। ’’ पार्टी ने भी किसानों को बधाई दी है। सैकड़ों किसान दिल्ली की विभिन्न सीमाओं पर इन तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करवाने की मांग पर नंवबर 2020 से धरना दिये हुए बैठे थे। केंद्र और किसान प्रतिनिधियों के बीच 11 दौर की आपैचारिक बातचीत हुई जो बेनतीजा रही। केंद्र ने जहां इन कानूनों को किसान हितैषी बताया था वहीं प्रदर्शनकारी किसानों का कहना था कि ये कानून उन्हें कॉरपोरेट घरानों के आश्रित बना देंगे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।