Lulu Mall के बाद अब मेरठ के शॉपिंग कॉम्प्लेक्स में पढ़ी गई नमाज, वीडियो वायरल

namaz
Twitter
मेरठ के एक कॉम्प्लेक्स में नमाज पढ़े जाने का वीडियो वायरल हो रहा है। पुलिस क्षेत्राधिकारी (सीओ) देवेश सिंह ने पीटीआई- को बताया कि वीडियो की सत्यता का पता लगाया जा रहा है, वीडियो कब का है और नमाज पढ़ने वाला कौन था, इसकी जानकारी की जा रही है।

मेरठ (उत्तर प्रदेश)।उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के लुलु माल में अनधिकृत तौर पर नमाज पढ़े जाने के मामले का अभी पटाक्षेप भी नहीं हुआ कि मेरठ के एक कॉम्प्लेक्स में नमाज पढ़े जाने का एक वीडियो सामने आया है। नमाज के विरोध में हिंदू जागरण मंच के तीन लोग शापिंग कॉम्प्लेक्स में हनुमान चालीसा का पाठ करने पहुंच गए। तीनों को हिरासत में ले लिया गया है। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) आईटी सेल के जिला संयोजक दिग्विजय सिंह ने नमाज पढ़ते हुए वीडियो और फोटो मेरठ पुलिस और जिलाधिकारी को ट्वीट करते हुए लिखा है कि लखनऊ के लुलु माल की तरह मेरठ में गढ़ रोड पर स्थित ‘एसटूएस स्क्वायर कॉम्प्लेक्स’ में सार्वजनिक तौर पर नमाज पढ़ते हुए।

इसे भी पढ़ें: सत्याग्रह का ड्रामा कर रही कांग्रेस, भाजपा का सवाल- सोनिया और राहुल से क्यों ना हो पूछताछ

पुलिस क्षेत्राधिकारी (सीओ) देवेश सिंह ने पीटीआई- को बताया कि वीडियो की सत्यता का पता लगाया जा रहा है, वीडियो कब का है और नमाज पढ़ने वाला कौन था, इसकी जानकारी की जा रही है। नमाज के विरोध में हिंदू जागरण मंच के सचिन सिरोही समेत तीन लोग आज शापिंग कॉम्प्लेक्स में हनुमान चालीसा का पाठ करने पहुंच गए, सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंच गई और उसने सिरोही समेत तीनों लोगों को हिरासत में ले लिया। नौचंदी थाने के प्रभारी जितेन्द्र कुमार सिंह के अनुसार अभी तक की जांच में जो जानकारी मिली है उसके अनुसार कॉम्प्लेक्स में एक दुकान में कुछ काम चल रहा था। नमाज का समय होने पर किसी कर्मचारी ने नमाज पढ़ ली होगी। उन्होंने बताया कि फिलहाल जांच जारी है। इससे पहले, प्रदेश की राजधानी लखनऊ के लुलु मॉल में 13 जुलाई को कुछ लोगों के नमाज पढ़ने का मामला सामने आया था जिसमें अब तक सात लोगों की गिरफ्तारी की जा चुकी है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़