• J&K को लेकर PM संग बैठक में नहीं मिला कोई आश्वासन, हमें चुनाव से इनकार नहीं: युसुफ तारीगामी

माकपा नेता युसुफ तारीगामी ने बताया कि हम प्रधानमंत्री की बुलाई बैठक में चुनाव मांगने के लिए नहीं आए। भारत के संविधान हमारे लिए जो अधिकार तय किए थे हम उनकी बहाल करने के लिए आए थे।

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 जून को प्रदेश के क्षेत्रीय दलों की सर्वदलीय बैठक बुलाई थी। इस बैठक में नेशनल कांफ्रेंस फारूख अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला, पीडीपी की महबूबा मुफ्ती, माकपा नेता युसुफ तारीगामी समेत 14 नेता शामिल हुए थे। जिस पर माकपा नेता युसुफ तारीगामी की प्रतिक्रिया सामने आई है। उन्होंने कहा कि पूर्ण राज्य का दर्ज़ा जरूरी है। जो हमारे राज्य का दर्जा था उसे बहाल करें। 

इसे भी पढ़ें: वैक्सीनेशन अभियान को मिला भारतीय सेना का साथ, LoC से सटे गांव में लगाई जा रही वैक्सीन 

हमें चुनाव से इनकार नहीं

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक माकपा नेता युसुफ तारीगामी ने बताया कि हम प्रधानमंत्री की बुलाई बैठक में चुनाव मांगने के लिए नहीं आए। भारत के संविधान हमारे लिए जो अधिकार तय किए थे हम उनकी बहाल करने के लिए आए थे। जो हमसे पूछे बिना लिया गया। चुनाव से हमें इनकार नहीं है लेकिन लोगों की मांग का क्या होगा। कोई आश्वासन मिला नहीं।

पूर्ण राज्य का दर्जा करें बहाल

उन्होंने कहा कि अगर सरकार वाकई इलेक्टोरल एक्सरसाइज को क्रेडिबल बनाना चाहती है, जिसमें लोग अपनी मर्जी से शिरकत करें तो कम से कम पूर्ण राज्य का दर्ज़ा जरूरी है। जो हमारा राज्य का दर्जा था उसे बहाल करें। हम उम्मीद लेकर आए थे कि लोगों के लिए कुछ लेकर जाएंगे लेकिन खाली हाथ जा रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर पर सर्वदलीय बैठक सकारात्मक कदम, चुनाव से पहले मिले पूर्ण राज्य का दर्जा: कर्ण सिंह 

गौरतलब है कि लंबे समय तक आतंकवाद और अस्थिरता के दौर से गुजरे जम्मू-कश्मीर के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि वह इस पूर्ववर्ती राज्य से दिल्ली की दूरी के साथ ही दिलों की दूरियों को मिटाना चाहते हैं। सूत्रों ने कहा कि प्रधानमंत्री ने कहा था कि सभी ने खुले मन से बैठक में अपना पक्ष रखा है।