अफगानिस्तान पर भारत का बयान, कहा- हम सभी शांति पहल का समर्थन करते हैं!

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 29, 2021   16:35
अफगानिस्तान पर भारत का बयान, कहा- हम सभी शांति पहल का समर्थन करते हैं!

उल्लेखनीय है कि अमेरिका ने एक मई से अपने सैनिकों को वापस बुलाना शुरू किया है और उसके बाद तालिबान व्यापक हिंसा के साथ पूरे अफगानिस्तान में तेजी से आगे बढ़ रहा है। अमेरिका पहले ही अपने अधिकतर सैनिकों को वापस बुला चुका है और 31 अगस्त तक सैनिकों की वापसी की प्रक्रिया को पूरा करना चाहता है।

नयी दिल्ली। भारत ने बृहस्पतिवार को कहा कि संप्रभुता संपन्न, लोकतांत्रिक एवं शांतिपूर्ण अफगानिस्तान का समर्थन करना भारत की एक अटल नीति रही है तथा वह क्षेत्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय पक्षों सहित अफगानिस्तान के भीतर एवं बाहर हितधारियों के साथ संपर्क बनाए हुए है। विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने एक सवाल के लिखित जवाब में राज्यसभा को बताया, ‘‘भारत एक समावेशी अफ़गान नेतृत्व में अफ़गान के अधीन और अफ़गान द्वारा नियंत्रित प्रक्रिया के जरिए स्थायी राजनीतिक समाधान की ओर ले जाने वाली सभी शांति पहलों का समर्थन करता है, जिससे क्षेत्र में शांति और स्थिरता बनी रहे।’’

इसे भी पढ़ें: दिल्ली खेल विश्वविद्यालय में अगले साल अप्रैल से कक्षा छह से नौ तक के छात्र ले सकेंगे प्रवेश

उन्होंने कहा कि एक निकटतम पड़ोसी और रणनीतिक साझेदार होने के नाते, भारत के पास संप्रभु, लोकतांत्रिक और शांतिपूर्ण अफ़गानिस्तान का समर्थन करने के लिए एक स्थायी नीति है, जिससे महिलाओं, बच्चों और अल्पसंख्यकों सहित अफ़गानी समाज के सभी वर्गों के हितों की रक्षा की जाती है। उन्होंने कहा कि विदेश मंत्री एस जयशंकर ने 2020 में दोहा में आयोजित एक अंतर-अफ़गान बातचीत के पहले सत्र में भाग लिया था। उल्लेखनीय है कि अमेरिका ने एक मई से अपने सैनिकों को वापस बुलाना शुरू किया है और उसके बाद तालिबान व्यापक हिंसा के साथ पूरे अफगानिस्तान में तेजी से आगे बढ़ रहा है। अमेरिका पहले ही अपने अधिकतर सैनिकों को वापस बुला चुका है और 31 अगस्त तक सैनिकों की वापसी की प्रक्रिया को पूरा करना चाहता है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।