कांग्रेस का घरेलू झगड़ा निपटा या और बढ़ा? आलाकमान ने सिद्धू को मनाया तो कैप्टन ने विधायकों-समर्थकों को लंच पर बुलाया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 30, 2021   22:45
कांग्रेस का घरेलू झगड़ा निपटा या और बढ़ा? आलाकमान ने सिद्धू को मनाया तो कैप्टन ने विधायकों-समर्थकों को लंच पर बुलाया

पंजाब के कप्तान अमरिंदर सिंह ने अपने समर्थक नेताओं और विधायकों को फॉर्म हाउस पर लंच के लिए बुला लिया है। इसके सियासी मायने निकाले जा रहे हैं। मतलब साफ है कि जो भी फॉर्मूला आलाकमान के साथ सिद्धू के लिए बनाया गया होगा उस फॉर्मूले की जानकारी अब विधायकों को देने का मन कैप्टन अमरिंदर सिंह बना चुके हैं।

पंजाब में आज पूरे दिन कांग्रेस पार्टी के कलह से लेकर सुलह की पटकथा लिखे जाने की बात होती रही। प्रियंका की मुस्कान वाली तस्वीर के साथ बगल में खड़े क्रिकेट की पिच से सियासत के मैदान तक कदमताल करने वाले नवजोत सिंह सिद्धू ने बीते शाम राहुल गांधी से मुलाकात की। जिसके बाद से ही ये कयास लगाए जाने लगे कि पंजाब कांग्रेस अब सबकुछ ऑल इज वेल हो गया है। लेकिन जैसे-जैसे शाम बीता और रात ने करवट लेनी शुरू की पंजाब की सियासत भी तेजी से बदलने लगी। इधर ये कहा जा रहा है कि बड़ी जिम्मेदारी के साथ आलाकमान ने सिद्धू को मना लिया है तो उधर पंजाब के कप्तान अमरिंदर सिंह ने अपने समर्थक नेताओं और विधायकों को फॉर्म हाउस पर लंच के लिए बुला लिया है। इसके सियासी मायने निकाले जा रहे हैं। मतलब साफ है कि जो भी फॉर्मूला आलाकमान के साथ सिद्धू के लिए बनाया गया होगा उस फॉर्मूले की जानकारी अब विधायकों को देने का मन कैप्टन अमरिंदर सिंह बना चुके हैं। गुरुवार को कैप्टन ने इसलिए विधायकों को लंच पर बुलाया है।  

इसे भी पढ़ें: दिन में प्रियंका, शाम में राहुल से मुलाकात, पंजाब का झगड़ा अब सुलझने वाला है?

क्रिकेट की पिच से लेकर सियासत की पिच तक हर खेल में सिद्धू रोमांच और सस्पेंस पैदा करने में माहिर हैं। कैप्टन से खटपट को लेकर विरोधियों के बाउंसर के बीच दिल्ली दरबार में हाजिर लगाकर एक हिट में सबको चित कर दिया। माना ये जा रहा है कि प्रियंका गांधी ने जो फॉर्मूला सिद्धू को दिया है उसपर वो राजी हो गया हैं। अब क्या उन्हें पद दिया जाता है ये अभी स्पष्ट रूप से सामने नहीं आया है। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।