यूक्रेन की स्थिति पर हमारी नजर, सिंधिया बोले- एयर स्पेस खुलते ही शुरू की जाएंगी फ्लाइट्स

यूक्रेन की स्थिति पर हमारी नजर, सिंधिया बोले- एयर स्पेस खुलते ही शुरू की जाएंगी फ्लाइट्स
प्रतिरूप फोटो

केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बताया कि आज फ्लाइट्स यूक्रेन के लिए रवाना हुई थी लेकिन जब यूक्रेन में घटनाएं शुरू हुई तब हमें बताया गया कि एयर स्पेस पूर्ण रूप से बंद किया गया है और नोटिस टू एयर मिशन जारी किया गया है।

नयी दिल्ली। रूसी सैनिकों ने यूक्रेन पर व्यापक स्तर पर हमला कर दिया है। ऐसे में यूक्रेन में अफरा-तफरी का माहौल है और ज्यादा-से-ज्यादा लोग वहां से निकलने की कोशिश कर रहे हैं। हालांकि, यूक्रेन में हवाई क्षेत्र बंद है, रेल सेवा पर भी दबाव बढ़ गया है और सड़कों पर जाम लगा है। ऐसे में भारतीयों को वहां से निकालने के लिए केंद्र सरकार योजना बना रही है। केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बताया कि फ्लाइट्स यूक्रेन के लिए रवाना हुई थी लेकिन वहां का एयर स्पेस पूर्ण रूप से बंद किया गया है। 

इसे भी पढ़ें: यूक्रेन से भारतीयों को निकालने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था कर रही भारत सरकार, वी. मुरलीधरन बोले- मैंने छात्रों से की फोन पर बात 

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बताया कि आज फ्लाइट्स यूक्रेन के लिए रवाना हुई थी लेकिन जब यूक्रेन में घटनाएं शुरू हुई तब हमें बताया गया कि एयर स्पेस पूर्ण रूप से बंद किया गया है और नोटिस टू एयर मिशन जारी किया गया है। जिसके कारण फ्लाइट को वापस भारत आना पड़ा। विदेश मंत्री के साथ भी मेरी चर्चा हुई है और यूक्रेन की स्थिति पर हम नजर बनाए हुए हैं। जैसे ही वहां पर एयर स्पेस खोला जाएगा फ्लाइट्स फिर से शुरू की जाएंगी।

इसे भी पढ़ें: यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेनस्की सहित कई नेता ने रूसी हमले से बचाव के लिए मदद की गुहार लगायी

इस दिन संचालित होनी था फ्लाइट्स

एयर इंडिया ने बताया था कि एयर इंडिया 22, 24 और 26 फरवरी को भारत-यूक्रेन के बीच 3 फ्लाइट्स संचालित करने वाली है, बुकिंग एयर इंडिया के कार्यालयों, वेबसाइट, कॉल सेंटर और अधिकृत ट्रैवल एजेंटों के माध्यम से खुली है। ऐसे में 22 फरवरी को संचालित की गई फ्लाइट से 242 भारतीयों की वतन वापसी हुई है। उसके बाद 24 फरवरी को एक बार फिर से भारतीयों को लेने के लिए एयर इंडिया की फ्लाइट ने उड़ान भरी लेकिन एयर स्पेस बंद होने की वजह से उसे वापस लौटना पड़ा।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।