सत्ता में आए तो शासन के केजरीवाल मॉडल के साथ दिल्ली नगर निकायों में क्रांतिकारी बदलाव करेंगे: आप

Arvind Kejriwal
राजेंद्र नगर से विधायक चड्ढा ने इलाके के भारतीय जानता पार्टी (भाजपा) शासित नगर निकाय की आलोचना करते हुए कहा कि शंकर रोड को पूसा रोड से जोड़ने वाले खंड की मरम्मत करना‘‘महत्वपूर्ण’’ है, क्योंकि टूटी हुई सड़क ‘‘घातक प्रतीत होती’’ है।

नयी दिल्ली|  आम आदमी पार्टी (आप) विधायक राघव चड्ढा ने ओल्ड राजेंद्र नगर में एक सड़क की मरम्मत के लिए शनिवार को एक परियोजना शुरू की और कहा कि यदि उनकी पार्टी सत्ता में आती है, तो वह ‘‘शासन के केजरीवाल मॉडल’’ के साथ दिल्ली के नगर निगमों में ‘‘क्रांतिकारी बदलाव’’ लाएगी।

राजेंद्र नगर से विधायक चड्ढा ने इलाके के भारतीय जानता पार्टी (भाजपा) शासित नगर निकाय की आलोचना करते हुए कहा कि शंकर रोड को पूसा रोड से जोड़ने वाले खंड की मरम्मत करना‘‘महत्वपूर्ण’’ है, क्योंकि टूटी हुई सड़क ‘‘घातक प्रतीत होती’’ है।

उन्होंने कहा, ‘‘ नगर निकाय ने अक्टूबर 2020 में इसके लिए एक कार्यादेश जारी किया गया था और इस काम को तीन महीने में पूरा किया जाना था, लेकिन काम आज भी रुका हुआ है।’’

इसे भी पढ़ें: प्रदूषण से निपटने के लिए केजरीवाल ने विभिन्न कदमों की घोषणा की

‘आप’ नेता ने कहा कि अब मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली सरकार ने ‘‘लोगों की सहायता एवं सुरक्षा के लिए’’ 90 लाख रुपए से अधिक की लागत के साथ सड़क की मरम्मत की जिम्मेदारी ली है। उन्होंने कहा, ‘‘दिल्ली में एमसीडी सड़कों का हाल बुरा है।

ओल्ड राजेंद्र नगर और पूरे विधानसभा क्षेत्र में एमसीडी की सड़कें खस्ताहाल में हैं। हमें इसके कारण मुख्यमंत्री सड़क पुनर्निर्माण योजना के तहत इलाके की सड़कों की मरम्मत करने की जिम्मेदारी लेनी पड़ी।’’ ‘आप’ ने चड्ढा के हवाले से कहा, ‘‘मुझे पूरा भरोसा है कि दिल्ली के लोग भाजपा को एमसीडी के बाहर कर देंगे।

इसे भी पढ़ें: सलमान खुर्शीद की किताब के प्रकाशन, बिक्री के खिलाफ दिल्ली की अदालत में याचिका दाखिल

आगामी चुनाव में आप के सत्ता में आने पर हम शासन के केजरीवाल मॉडल के साथ एमसीडी में क्रांतिकारी बदलाव लाएंगे।’’ इस बीच, दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष चड्ढा ने ओल्ड राजेंद्र नगर में पानी की पाइपलाइन परियोजना भी लोगों को समर्पित की।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़