WFI पर आरोपों की जांच के लिए गठित समिति पर पहलवानों ने जताया अविश्वास

vinesh bajrang
प्रतिरूप फोटो
ANI Image
रितिका कमठान । Jan 24, 2023 5:49PM
दिल्ली के जंतर मंतर पर धरना देने वाले पहलवानों खेल मंत्रालय द्वारा जिस समिति का निर्माण किया गया है उस पर नाराजगी जाहिर की है। पहलवानों का कहना है कि सरकार ने जो समिति बनाई है उसे बनाने से पहले पहलवानों से चर्चा नहीं की गई।

भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ पहलवानों द्वारा लगाए गए आरोपों की जांच करने के लिए खेल मंत्रालय ने पांच सदस्यीय समिति का गठन कर दिया है। अब पहलवानों ने इस समिति पर ही सवाल उठाने शुरू कर दिए है। पहलवानों ने इस समिति के गठन पर अपनी आपत्ति दर्ज कराई है।

भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह को लेकर विनेश फोगाट और बजरंग पूनिया ने कहा कि समिति के गठन से पहले पहलवानों की राय नहीं ली गई है। ऐसे में इस कमेटी को भंग किया जाना चाहिए। बता दें कि इस कमेटी को एक महीने के भीतर आरोपों की जांच कर अपनी रिपोर्ट पेश करनी है।

खिलाड़ियों ने किए कई ट्वीट

इस मामले में खिलाड़ियों ने कई ट्वीट किए है। पहलवान विनेश फोगाट ने कहा कि हमें आश्वासन दिया गया था कि Oversight Committee के गठन से पहले हमसे परामर्श किया जाएगा। बड़े दुख की बात है कि इस कमेटी के गठन से पहले हमसे राय भी नहीं ली गई। उन्होंने ये भी कहा कि इस निगरानी समिति को भंग किया जाना चाहिए। नई समिति में हमारी पसंद के सदस्यों को भी शामिल किया जाना चाहिए। महिलाओं के शोषण से संबंधित ये मामला काफी गंभीर है।

बता दें कि खेल मंत्रालय ने मंत्री अनुराग ठाकुर के हस्तक्षेप के बाद समिति का गठन किया गया था। इस समिति का नेतृत्व ओलिंपिक मेडल विजेता मैरी कॉम करेंगी। इस समिति में योगेश्वर दत्त, तृप्ती मुरगुंडे, राधिका श्रीमन और राजेश राजगोपालन भी हिस्सा हैं।

पहलवानों ने दिया था धरना

बता दें कि देश के दिग्गज पहलवानों ने भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ यौन उत्पीड़न, मानसिक उत्पीड़न करने से लेकर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे। पहलवानों ने इस मामले में कार्रवाई किए जाने की मांग करते हुए जंतर मंतर पर तीन दिनों तक धरना दिया था। इस मामले में पहलवानों के बढ़ते प्रदर्शन के बाद 21 जनवरी को खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने समिति का गठन किया था और पहलवानों का धरना भी खत्म करवाया था।

अन्य न्यूज़