उत्तर प्रदेश CM योगी का निर्देश, जेवर हवाईअड्डे के डिजाइन में दिखाई दे भारतीय विरासत की झलक

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जुलाई 25, 2021   18:18
उत्तर प्रदेश CM योगी का निर्देश, जेवर हवाईअड्डे के डिजाइन में दिखाई दे भारतीय विरासत की झलक

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि नोएडा हवाईअड्डे के मुख्य टर्मिनल का भवन ‘भारतीय विरासत का प्रतिबिंब’ लगना चाहिए। यह राज्य की एक विशाल परियोजना है।

 नोएडा। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि नोएडा हवाईअड्डे के मुख्य टर्मिनल का भवन ‘भारतीय विरासत का प्रतिबिंब’ लगना चाहिए। यह राज्य की एक विशाल परियोजना है। मुख्यमंत्री ने प्रस्तावित नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे की प्रगति की समीक्षा के दौरान यह निर्देश दिया। सूत्रों ने यह जानकारी दी। आदित्यनाथ ने यह निर्देश हाल में इस नए हवाईअड्डे की समीक्षा बैठक के दौरान दिया।

इसे भी पढ़ें: जेपी नड्डा का विपक्ष को करारा जवाब, कहा- पेगासस जासूसी आरोप हैं बेबुनियाद, विपक्ष मुद्दाविहीन रह गया है

यह हवाईअड्डा गौतम बुद्ध नगर के जेवर में बन रहा है। दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे (आईजीआईए) से इसकी दूरी 80 किलोमीटर है। इस आधुनिक हवाईअड्डे का निर्माण स्विट्जरलैंड की कंपनी ज्यूरिख इंटरनेशनल एयरपोर्ट (जेडआईए) एजी द्वारा किया जा रहा है। कहा जा रहा है कि पूरा होने के बाद यह देश का सबसे बड़ा हवाईअड्डा होगा। हवाईअड्डे के विकास पर करीब 29,560 करोड़ रुपये की लागत आएगी। इससे पहले डेवलपर ने दिसंबर में नॉर्डिंक, ग्रिमशॉ, हैप्टिक तथा स्तूप के गठजोड़ को यात्री टर्मिनल के डिजाइन के लिए वास्तुकार के रूप में चुना था।

इसे भी पढ़ें: मायावती और अखिलेश का 2022 का सपना मुंगेरीलाल के सपने जैसा होगा : केशव प्रसाद मौर्य

जून और अगस्त, 2020 के दौरान तीन चरण की प्रतिस्पर्धा के जरिये इनका चयन किया गया था। सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री ने 17 जुलाई को लखनऊ में हवाईअड्डे की प्रगति की समीक्षा के दौरान कहा कि हवाईअड्डे की मुख्य टर्मिनल इमारत के वास्तु में भारतीय विरासत की झलक मिलनी चाहिए। आदित्यनाथ ने कहा कि अब यह अधिकारियों को देखना है कि ऐसा कैसे होगा। क्योंकि डिजाइन आकर्षक होना चाहिए और साथ ही इसमें भारतीय विरासत की झलक भी दिखनी चाहिए। इस बैठक में नागर विमानन मंत्री नंद गोपाल गुप्ता ‘नंदी’, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के अतिरिक्त मुख्य सचिव एस पी गोयल, नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा लि. (नायल) के मुख्य कार्यपालक अधिकारी अरुण वीर सिंह तथा जेडआई के प्रतिनिधि भी शामिल हुए।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।