टीम इंडिया का वह कप्तान जिसने प्रेमिका से बात करने के लिए भेज दिए थे 7 रेफ्रिजरेटर

Mansoor Ali Khan Pataudi
Prabhasakshi
निधि अविनाश । Sep 22, 2022 11:54AM
शर्मिला टैगोर और मंसूर ने अपने परिवारों को शादी के लिए मनाया और शर्मिला अपने मंसूर के लिए मुस्लिम बन गईं और उन्होंने अपना नाम बदलकर आयशा सुल्तान रख लिया। लेकिन देश-दुनिया इन्हें आज भी शर्मिला टैगोर के नाम से ही बुलाती है।

क्रिकेट के मैदान पर टाइगर के नाम से कहे जाने वाले मंसूर अली खान की आज यानि 22 सितंबर को पुण्यतिथि है। यह कहना गलत नहीं होगा कि उनकी जिंदगी किसी फिल्म से कम नहीं रही। उन्होंने एक हादसे में जहां एक आंख की रोशनी गंवा दी तो वहीं अपने दौर की मशहूर अदाकारा शर्मिला टेगोर से इश्क करने की भी हिम्मत दिखाई। मंसूर अली और शर्मिला टैगोर की लव स्टोरी इस दौर में चर्चा का विषय बनी हुई थी। इसी बीच आज हम आपको बॉलीवुड और क्रिकेट से जुड़ा एक ऐसा किस्सा बताने जा रहे है जो काफी दिलचस्प रहा। टीम इंडिया के कप्तान पटौदी के नवाब मंसूर अली खान को बॉलीवुड की मशहूर एक्ट्रेस शर्मिला टैगोर से इश्क हो गया था और उनको अपना बनाने के लिए उन्होंने बहुत कड़ी मश्क्कत की थी। 

शर्मिला को मनाने के लिए भेज दिए थे 7 रेफ्रिजरेटर

आपको जानकर हैरानी होगी लेकिन अपनी प्रेमिका यानि शर्मिला को मनाने और उनसे बात करने के लिए उन्होंने एक या दो नहीं बल्कि 7 रेफ्रिजरेटर गिफ्ट के तौर पर भेजे थे। एक इंटरव्यू में सोहा अली खान ने बताया कि उनके पिता मंसूर अली खान ने मां शर्मिला टैगोर को मनाने के लिए 7 रेफ्रिजरेटर गिफ्ट किए थे। लेकिन ये रेफ्रिजरेटर शर्मिला का दिल नहीं जीत सके। हालांकि, यह जरूर हुआ कि शर्मिला ने मंसूर से मिलने का मन जरूर बना लिया था। मंसूर ने शर्मिला को करीब 4 सालों तक गुलाब के फूल भेजे थ जिसके बाद मंसूर की जिंदगी में शर्मिला आईं।

इसे भी पढ़ें: गुलामी के दौर में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा दिया था सर मोक्षगुंडम विश्वेश्वरैया ने

साल 1967 में जब शर्मिला टैगोर ने फिल्म एन इवनिंग इन पेरिस में बिकिनी पहनी और एक मैग्जीन के लिए फोटो शूट भी करवाया तो वह पूरे इंडसट्री में चर्चा का विषय बन गई। हर जगह शर्मिला की ही चर्चा होने लगी। एक दिन शर्मिला और मंसूर की मुलाकात दिल्ली में हुई और बस एक ही मुलाकात में मंसूर, शर्मिला को दिल बैठे थे और यहीं से दोनों के प्रेम कहानी की शुरूआत हुई। टाइगर पटौदी एक ही नजर में शर्मिला को पसंद करने लगे थे। लेकिन मोहब्बत की राह काफी कठिन थी। एक जगह जहा मंसूर पटौदी खानदान के नवाब थे तो वहीं शर्मिला हिंदू धर्म से ताल्लुक रखती थी। दोनों के धर्म अलग होने के बावजीद दोनों का प्यार कम नहीं हुआ। 

शर्मिला टैगोर और मंसूर ने अपने परिवारों को शादी के लिए मनाया और शर्मिला अपने मंसूर के लिए मुस्लिम बन गईं और उन्होंने अपना नाम बदलकर आयशा सुल्तान रख लिया। लेकिन देश-दुनिया इन्हें आज भी शर्मिला टैगोर के नाम से ही बुलाती है। बता दें कि इन दोनों की शादी भी काफी चर्चितत रही थी। शर्मिला और मंसूर की शादी में राष्ट्रपति जाकिर हुसैन और इंदिरा गांधी भी शामिल हुई थी। 

भारतीय क्रिकेट के कप्तान मंसूर अली खान

भारतीय क्रिकेट इतिहास के कप्तान रहे मंसूर अली खान ने अपने देश के खिलाड़ियों को विदेश में खेलने के लिए तैयार किया था। उन्होंने 46 टेस्ट मैचों में 2793 रन बनाए थे। उन्होंने इस दौरान 6 शतक और 16 अर्धशतक लगाए थे। पटौदी के नवाब का टेस्ट मैचों में सर्वश्रेष्ठ स्कोर नाबाद 203 रन था। उन्होंने फर्स्ट क्लास मैचों की 499 पारियों में 15425 रन बनाए थे। इसमें भी उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर नाबाद 203 रन था।

- निधि अविनाश

अन्य न्यूज़