विंबलडन चैंपियन पेत्रा क्वितोवा ने बताया दर्शकों के बिना खेलने का अपना अनुभव

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 27, 2020   10:11
विंबलडन चैंपियन पेत्रा क्वितोवा ने बताया दर्शकों के बिना खेलने का अपना अनुभव

कोरोना वायरस का प्रसार रोकने के लिये यह टूर्नामेंट बेहद कड़े सुरक्षा उपायों के साथ खेला जा रहा है। विश्व में 12वें नंबर की खिलाड़ी 30 वर्षीय क्वितोवा ने कहा, ‘‘दर्शक महत्वपूर्ण होते हैं। वे मेरे लिये ऊर्जा का स्रोत हैं। मुझे बहुत अजीब लगा।

प्राग। एक छोटे से ‘बॉल ब्वाय’ ने खाली स्टेडियम में खेले जा रहे प्राग टेनिस टूर्नामेंट में दो बार की विंबलडन चैंपियन पेत्रा क्वितोवा को समर्थकों का अहसास दिलाया। क्वितोवा ने अपनी युगल जोड़ीदार बारबोरा क्रेजिसकोवा को सीधे सेटों में हराने के बाद कहा, ‘‘मैंने जब एक शानदार शॉट खेला तो उसके बाद ऐसा हुआ। मैं (खिलाड़ियों और बॉल ब्वाय के बीच बनाये गये) घेरे के पास गयी और उसने मुझसे कहा, ‘बहुत अच्छा शॉट था’ और मैंने उससे कहा, धन्यवाद। ’’ लेकिन क्वितोवा ने स्वीकार किया कि दर्शकों के बिना खेलना बहुत अजीब लगा।

इसे भी पढ़ें: जब भारत की जीत की दुआ मांगने असलम शेर खान के साथ मस्जिद गए थे बलबीर..

कोरोना वायरस का प्रसार रोकने के लिये यह टूर्नामेंट बेहद कड़े सुरक्षा उपायों के साथ खेला जा रहा है। विश्व में 12वें नंबर की खिलाड़ी 30 वर्षीय क्वितोवा ने कहा, ‘‘दर्शक महत्वपूर्ण होते हैं। वे मेरे लिये ऊर्जा का स्रोत हैं। मुझे बहुत अजीब लगा। मैंने सोचा कि मुझे खुद का हौसला बढ़ाना चाहिए और जोर से कुछ कहना चाहिए लेकिन फिर मैंने ऐसा नहीं करने का फैसला किया। ’’ क्वितोवा के कोच ने भी इस बीच केवल ‘वाह’ कहकर ही उनका हौसला बढ़ाया जिस पर इस टेनिस स्टार ने कहा, ‘‘मुझे लगा कि कम से कम कोच को तो मेरे लिये ताली बजानी चाहिए थी लेकिन ऐसा नहीं हुआ। यह वास्तव में बेहद अजीबोगरीब स्थिति थी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।