मयंक अग्रवाल का कमाल जारी, जड़ा अपने टेस्ट करियर का तीसरा शतक

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 15, 2019   15:29
मयंक अग्रवाल का कमाल जारी, जड़ा अपने टेस्ट करियर का तीसरा शतक

टेस्ट क्रिकेट में पहले ही दोहरा शतक लगा चुके अग्रवाल जब 150 रन पर पहुंचे तो कप्तान विराट कोहली ने खुश होकर उन्हें दो उंगलियां दिखायी जिसका मतलब था कि क्रीज पर डटे रहो और फिर से दोहरा शतक जड़ो।

इंदौर। सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल के तीसरे टेस्ट शतक के दम भारत ने बांग्लादेश के खिलाफ पहले टेस्ट क्रिकेट मैच के दूसरे दिन चाय के विश्राम तक तीन विकेट पर 303 रन बनाकर अपना पलड़ा भारी कर दिया। अग्रवाल के नाबाद 156 रन और उप कप्तान अजिंक्य रहाणे के नाबाद 82 रन की मदद से भारत ने अब 153 रन की मजबूत बढ़त हासिल कर ली है। बांग्लादेश की टीम पहली पारी में 150 रन पर सिमट गयी थी।

टेस्ट क्रिकेट में पहले ही दोहरा शतक लगा चुके अग्रवाल जब 150 रन पर पहुंचे तो कप्तान विराट कोहली ने खुश होकर उन्हें दो उंगलियां दिखायी जिसका मतलब था कि क्रीज पर डटे रहो और फिर से दोहरा शतक जड़ो। चेतेश्वर पुजारा (54) और कोहली के अप्रत्याशित रूप से शून्य पर आउट होने के बाद अग्रवाल और रहाणे ने अब तक चौथे विकेट के लिये 184 रन जोड़े हैं। बांग्लादेश की तरफ से तीनों विकेट अबु जायेद (73 रन देकर तीन विकेट) ने लिये हैं। 

केवल चार गेंदबाजों से खेल रहे बांग्लादेश को इसका खामियाजा भुगतना पड़ा। तेज गेंदबाज इबादत हुसैन और बायें हाथ के स्पिनर ताइजुल इस्लाम अग्रवाल-रहाणे की जोड़ी पर कोई प्रभाव छोड़ पायी। जिस पिच पर बांग्लादेश के बल्लेबाज पहले दिन जूझते रहे उस पर अग्रवाल ने मनमाफिक शाट लगाये। वह अब तक 21 चौके और तीन छक्के लगा चुके हैं। लंच के बाद उनका ताइजुल पर लगाया गया छक्का दर्शनीय था जबकि उन्होंने मेहदी हसन मिराज पर भी दो छक्के लगाये। बांग्लादेश ने जब तक दूसरी नयी गेंद ली तब तक उनके खिलाड़ी निराश हो चुके थे जिससे साफ लग रहा था कि उन्होंने मैच में आशा छोड़ दी है। 

इसे भी पढ़ें: वैश्विक रुख से सेंसेक्स शुरुआती कारोबार में 300 अंक से अधिक उछला

वेस्टइंडीज दौरे से ही अच्छी फॉर्म में चल रहे रहाणे ने भी अपना 21वां टेस्ट अर्धशतक पूरा किया। इसके बीच उन्होंने 62वें टेस्ट मैच में 4000 रन भी पूरे किये। उनकी पारी में अब तक आठ चौके शामिल हैं। सुबह हालांकि कोहली की बल्लेबाजी देखने के लिये स्टेडियम में पहुंचे लगभग 10,000 दर्शकों को हालांकि निराशा हाथ लगी। बांग्लादेश की तरफ से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले अबु जायेद (58 रन देकर तीन विकेट) ने उन्हें खाता भी नहीं खोलने दिया। पारी के शुरू में जायेद ने आफ कटर की और जब पगबाधा की उनकी अपील ठुकरा दी गयी तो डीआरएस का सहारा लिया। तीसरे अंपायर ने भारतीय कप्तान को पगबाधा करार दिया और इस तरह से कोहली शून्य पर पवेलियन लौट गये।

इसे भी पढ़ें: निवेश आकर्षित करने और उद्योगों की स्थापना के लिये निरन्तर प्रयासरत है यूपी सरकार

इससे पहले सुबह जायेद का भाग्य ने साथ नहीं दिया क्योंकि मेहदी ने उनकी गेंद पर पुजारा का कैच छोड़ दिया था। सौराष्ट्र के बल्लेबाज ने अगली गेंद पर स्क्वायर कट करके अपने टेस्ट करियर का 23वां अर्धशतक पूरा किया। लेकिन वह जीवनदान का फायदा नहीं उठा पाये और स्थानापन्न सैफ हसन ने तीसरी स्लिप में उनका शानदार कैच लिया। पुजारा ने अपनी पारी में नौ चौके लगाये तथा अग्रवाल के साथ दूसरे विकेट के लिये 91 रन की साझेदारी की। 





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।