18वें ग्रैंडस्लैम खिताब पर नोवाक जोकोविच की नजरें, मेदवेदेव की पहले ग्रैंडस्लैम खिताब पर

Novak Djokovik
ऑस्ट्रेलियाई ओपन फाइनल में नोवाक जोकोविच की नजरें 18वें ग्रैंडस्लैम पर लगी होंगी। मेदवेदेव अमेरिकी ओपन फाइनल हार गए थे और इस बार वह पहले ग्रैंडस्लैम खिताब को जीतने में कोई कोर कसर बाकी नहीं रखना चाहते।

मेलबर्न। दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी नोवाक जोकोविच ऑस्ट्रेलियाई ओपन फाइनल में उतरेंगे तो उनकी नजरें मेलबर्न पार्क पर नौवे और कैरियर के 18वें ग्रैंडस्लैम पर लगी होंगी जबकि उनके प्रतिद्वंद्वी दानिल मेदवेदेव पहला खिताब जीतने की कोशिश में हैं। जोकोविच से ज्यादा ग्रैंडस्लैम पुरूष टेनिस में रोजर फेडरर और रफेल नडाल ने जीते हैं जिनके नाम 20 खिताब हैं। मेदवेदेव अमेरिकी ओपन फाइनल हार गए थे और इस बार वह पहले ग्रैंडस्लैम खिताब को जीतने में कोई कोर कसर बाकी नहीं रखना चाहते। उन्होंने कहा ,‘‘ मुझे पता है कि उन्हें हराने के लिये सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा। शायद पांच घंटे भी खेलना पड़ जाये और एक चूक भी भारी पड़ सकती है।’’

इसे भी पढ़ें: अंतरराष्ट्रीय हॉकी में वापसी करेगी भारतीय पुरुष टीम, यूरोप दौरे के लिए होगी रवाना

उन्होंने कहा ,‘‘ लेकिन ग्रैंडस्लैम फाइनल खेलना और वह भी जोकोविच जैसे खिलाड़ी के खिलाफ। यह ही अपने आप में सबसे बड़ी प्रेरणा है।’’ जोकोविच मई में 34 साल के हो गए और वह 15 साल से अपना दबदबा कायम करने वाले फेडरर तथा नडाल की जमात के खिलाड़ी हैं जबकि 25 वर्ष के मेदवेदेव विश्व टेनिस की अगली पौध के प्रतिनिधि हैं। फेडरर, नडाल और जोकोविच ने मिलकर पिछले 15 में से 14 ग्रैंडस्लैम जीते हैं।डोमिनिक थीम ने पिछले साल अमेरिकी ओपन जीता था। जोकोविच का आस्ट्रेलियाई ओपन सेमीफाइनल और फाइनल में रिकार्ड 17 . 0 का रहा है। अगर नडाल को लाल बजरी का बादशाह कहा जाता है तो मेलबर्न पार्क के धुरंधर जोकोविच हैं। जोकोविच ने कहा ,‘‘ मैं यहां जितनी बार जीतता हूं, उतना ही अगली बार बेहतर प्रदर्शन की प्रेरणा मिलती है।’’ दूसरी ओर दुनिया के पांचवें नंबर के खिलाड़ी रूस के मेदवेदेव पिछले सत्र से लगातार 20 मैच जीत चुके हैं और 12 बार उन्होंने जोकोविच समेत शीर्ष दस में शामिल खिलाड़ियों को हराया है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़